Loading...

हनी ट्रैप गैंग के सूत्र संचालक की तलाश | MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश के हाई प्रोफाइल हनी ट्रैप मामले में कुछ महिलाओं को गिरफ्तार तो कर लिया पंरतु पुलिस यह दावा नहीं कर सकती कि यह रैकेट पूरी तरह से खत्म कर दिया गया है क्योंकि पुलिस को अब तक इस गिरोह के डॉन का नाम तक पता नहीं चल पाया है। हां इतना जरूर पता चल गया है कि गिरफ्तार की गई लड़कियां पेशेवर बदमाश की तरह सुपारी उठातीं थीं और दोनों पार्टियों से पैसा कमाती थीं। 

13 आईएएस अफसर टारगेट पर थे

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक SIT को 13 आईएएस अधिकारियों की लिस्ट मिली है, वे अलग-अलग समय में कृषि विभाग, संस्कृति, उद्योग, शहरी विकास, मत्स्य पालन, जनसंपर्क, सामान्य प्रशासन, जल संसाधन, वन आदि जैसे विभागों में तैनात रहे हैं। SIT के मुताबिक, लिस्ट में शामिल नाम के आगे 'विशेष कोड' है। कुछ नाम गोल घेरे में हैं, वहीं कुछ के आगे 'Imp' यानी 'महत्वपूर्ण' और 'Ok' लिखा है। लिस्ट में शामिल कुछ नाम ऐसे भी हैं जिन पर सही का निशान 'Tick Mark' लगा है। 

संकेतों की भाषा समझने की कोशिश

पुलिस इन कोड्स को पढ़ने का प्रयास कर रही है। लिस्ट में शामिल किन-किन अफसरों को अब तक गैंग ने निशाना बनाया है, इसकी जांच हो रही है। इस संदर्भ में पुलिस ने हनी ट्रैप मामले में पकड़ी गई महिलाओं के मोबाइल फोन से कुछ वीडियो-क्लिप भी हासिल किए हैं। अनुमान लगाया जा रहा है कि जिनके नाम पर 'गोला' लगा है वो टारगेट थे, 'Ok' वाले लड़कियों के जाल में फंस चुके थे और 'Tick Mark' वालों के वीडियो बनाए जा चुके थे।