Loading...

मंत्रियों पर कांग्रेसी विधायक हमलावर, भाजपा विधायक बचाव में उतरे | MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश में राजनीति के अलग ही रंग नजर आ रहे हैं। कांग्रेस की सरकार में कांग्रेस के विधायक अपनी ही पार्टी के नेता और मंत्रियों पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगा रहे हैं और भाजपा के विधायक मंत्रियों का बचाव करते हुए उन्हे ईमानदार बता रहे हैं। यहां बात तुलसी सिलावट की हो रही है। भाजपा विधायक ऊषा ठाकुर ने दावा किया है कि वो ईमानदार आदमी हैं। 

भाजपा के एजेंट बन गए हैं सिंघार : अग्रवाल

दिग्विजय समर्थक मानक अग्रवाल ने मंत्री सिंघार को भाजपा का एजेंट बताते हुए कहा कि उन्होंने कभी भाजपा के खिलाफ संघर्ष नहीं किया। सदैव फायदा पहुंचाया। इनकी कारगुजारियों से वाकिफ हूं। उमंग की भाषा संस्कारहीनता है। मंत्री बनकर हैसियत न भूलें। सम्मान पाने से पहले देना सीखें।

विधायक ने सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी

तराना से कांग्रेस विधायक महेश परमार ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी है। इसमें उन्होंने कहा कि 15 साल के जंगलराज के बाद कांग्रेस की सरकार बनी है। लाखों कार्यकर्ताओं ने मेहनत की है। देश में आर्थिक मंदी के बाद भी मप्र के मुख्यमंत्री कमलनाथ बेहतर काम कर रहे हैं। ऐसे में मप्र सरकार के ही कुछ मंत्री, विधायक व पार्टी के बड़े नेता पार्टी लाइन से बाहर जाकर बयानबाजी कर रहे हैं। इससे कांग्रेस सरकार की छवि धूमिल हो रही है। ऐसे लोगों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई होनी चाहिए।

प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ही रहेंगे: पीसी शर्मा

मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि आगामी हरियाणा, महाराष्ट्र और मप्र के नगरीय निकाय चुनाव के साथ झाबुआ उपचुनाव तक सीएम कमलनाथ ही प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष रहेंगे। जहां तक बयानबाजी का सवाल है तो जमीनी स्तर पर काम करने वाले कार्यकर्ताओं पर इससे कुठाराघात हुआ है। 

भाजपा विधायक ऊषा ठाकुर मंत्री सिलावट के बचाव में उतरीं

मंत्री सिलावट पर लगे आरोपों पर भाजपा विधायक ऊषा ठाकुर ने उनका पक्ष लिया है। ठाकुर ने कहा कि बिना पुख्ता प्रमाण के किसी पर आरोप नहीं लगाना चाहिए। प्रतिद्वंदता हो सकती है, लेकिन किसी के लिए भी सोच-समझकर बोलना चाहिए। मैं उन्हें (सिलावट) बरसों से जानती हूं। वे अच्छे और हर काम बेहतर तरीके से करते हैं।