Loading...

पंचायत सचिवों की मांगों पर सहानुभूति पूर्वक विचार होगा: मंत्री सज्जन वर्मा | MP NEWS

भोपाल। लोक निर्माण एवं उज्जैन जिले के प्रभारी मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा है कि पंचायत सचिवों की समस्याओं पर सहानुभूति पूर्वक विचार किया जायेगा। उन्होंने कहा कि पंचायत सचिव ग्रामीण विकास में मुख्य केन्द्र के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। मंत्री श्री वर्मा उज्जैन में पंचायत सचिवों के संगठन के राज्य-स्तरीय समारोह को संबोधित कर रहे थे।

मंत्री श्री वर्मा ने पंचायत सचिवों से अपनी कार्यपद्धति को जन-अकांक्षाओं के अनुकूल बनाने का आग्रह किया। मंत्री श्री वर्मा ने बताया कि राज्य सरकार ने अब तक प्रदेश में 20 लाख किसानों के कर्ज माफ कर दिये हैं। दूसरे चरण में 12 लाख 50 हजार किसानों के कर्ज माफ किये जा रहे हैं। जल्द ही तीसरी सूची तैयार कर शेष सभी ऋणी किसानों के कर्ज माफ होंगे। कार्यक्रम में विधायक श्री महेश परमार, श्री मुरली मोरवाल और स्थानीय जन-प्रतिनिधि मौजूद थे।

कैदी मानसिक परिवर्तन की शुरूआत अभी से करें

लोक निर्माण मंत्री श्री वर्मा ने केन्द्रीय जेल, उज्जैन का निरीक्षण किया। मंत्री श्री वर्मा ने विभिन्न बैरकों, हेल्थ वार्ड और भोजनशाला का निरीक्षण किया। मंत्री श्री वर्मा मानवाधिकार संरक्षण परिषद् के विधिक सहायता शिविर में भी शामिल हुए।

मंत्री श्री वर्मा ने कहा कि जेल अपराध के प्रायश्चित का स्थल है। सजा काट रहे कैदियों को मानसिक परिवर्तन की शुरूआत अभी से कर देना चाहिए, जिससे सजा पूरी होने के बाद वे नये सिरे से जीवन की शुरूआत कर सकें। बताया गया कि जिला जेल में आईटीआई का संचालन कर कैदियों को चार ट्रेड में शिक्षा दी जा रही है। जिला जेल में हाल ही में म्युजिकल थैरेपी भी शुरू की गयी है।

मंत्री श्री वर्मा ने सान्दीपनि आश्रम के पास स्थित निर्वाणी अखाड़े में जाकर साधु-संतों से भी चर्चा की।