Loading...

प्रिय जयवर्द्धन, इस निर्णय से मेरी भावनाएं आहत हुई है, रोक लगाएं | KHULA KHAT by DIGVIJAY SINGH

प्रिय श्री जयवर्द्धन सिंह जी, भोपाल के निकट रायसेन रोड पर बिलखिरिया स्थित कंकाली मंदिर सिर्फ भोपाल ही नही बल्कि समूचे मध्यप्रदेश के लिए आस्था का केंद्र है। नवरात्रि में यहाँ लाखों श्रद्धालु दर्शन के लिये आते है। इसी मदिर के रास्ते पर आनंद नगर में भगवान श्री राम मंदिर, पटेल नगर में भगवान श्री कृष्ण का इसकॉन मंदिर और दादा जी धाम मंदिर स्थित है।

कांग्रेस ने इस निर्णय के खिलाफ आंदोलन किया था

पूर्ववर्ती सरकार ने वर्तमान में सुभाष नगर के निकट स्थित बूचडखाने (स्लॉटर हाउस) को कंकाली मंदिर के समीप आदमपुर छावनी में स्थापित करने का निर्णय लिया था जिस पर काँग्रेस कार्यकर्ताओं ने तत्कालीन सरकार के इस निर्णय के खिलाफ आंदोलन किया था और सरकार ने स्लॉटर हाउस बनाने का निर्णय टाल दिया था किन्तु वर्ष 2017 में भोपाल नगर निगम के महापौर और तत्कालीन मुख्यमंत्री ने जनभावनाओं के विरूद्ध जाकर इस प्रस्ताव और डीपीआर को स्वीकृति प्रदान कर दी।

निर्णय से मेरी और लाखों श्रद्धालुओं की भावनाएं आहत हुई है

मुझे ज्ञात हुआ है कि पूर्ववर्ती सरकार के निर्णय के अनुसार भाजपा शासित भोपाल नगर निगम ने आदमपुर छावनी में बूचडखाना (स्लॉटर हाउस) बनाने का कार्य प्रारंभ कर दिया है। कंकाली मंदिर के निकट और श्रीराम मंदिर तथा इस्कॉन मंदिर के मार्ग में बूचडखाना बनाने के निर्णय से मेरी और लाखों श्रद्धालुओं की भावनाएं आहत हुई है। भोपाल और उसके निकट के लाखों श्रद्वालुओं के मन में नगर निगम के इस निर्णय से आकोश व्याप्त है।

क्रियान्वयन पर तत्काल रोक लगाएं

मेरा आपसे अनुरोध है कि भाजपा शासित भोपाल के नगर निगम और तत्कालीन भाजपा सरकार के इस निर्णय के क्रियान्वयन पर तत्काल रोक लगाने तथा उक्त बूचडखाने को अन्यत्र स्थापित करने हेतु आवश्यक निर्देश प्रदान करने का कष्ट करें। 
सादर। आपका (दिग्विजय सिंह)