Loading...

BJP का घंटानाद आंदोलन, बेरिकेड्स तोड़कर कलेक्ट्रेट में घुसे कार्यकर्ता, ASI बेहोश | INDORE NEWS

इंदौर। प्रदेश सरकार के खिलाफ बुधवार को भाजपा कार्यकर्ताओं ने घंटानाद आंदोलन (Ghantanad movement) किया। कलेक्टेट (collectorate) पर आंदोलन कर रहे कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोकने की कोशिश की, लेकिन कार्यकर्ताओं ने झूमाझटकी करते हुए बेरिकेड्स फांदकर भीतर जाने की कोशिश की। इस दौरान एक कार्यकर्ता ने कलेक्टेट के मेन गेट पर खड़े होकर पुलिस-प्रशासन को बैट दिया। इस दौरान ड्यूटी पर लगे पुलिस अधिकारी गश खाकर गिर गए, जिसके बाद उन्हें तत्काल अस्पताल पहुंचाया गया। 

भाजपा ने बुधवार को प्रदेशभर में कमलनाथ सरकार के खिलाफ घंटानाद आंदोलन किया। इंदौर में नगर अध्यक्ष गोपीकृष्ण नेमा और खंडवा के सांसद और पूर्व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट का घेराव किया। सभी विधानसभाओं से बड़ी संख्या में कार्यकर्ता हरसिद्धी पर पहुंचे और यहां से पैदल मार्च करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे। आंदोलन की जानकारी पहले से होने के चलते बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात था। मेन गेट के भीड़ को रोकने के लिए बैरिकेड्स लगाए गए थे, लेकिन उग्र कार्यकर्ताओं ने पुलिस से झूमाझटकी की और बैरिकेड्स फांदकर भीतर जाने की कोशिश की। 

मेन गेट बंद होने पर कार्यकर्ताओं ने उसे तोड़ने की कोशिश की, इसके बाद कुछ कार्यकर्ता मेन गेट के ऊपर चढ़ गए और पुलिस प्रशासन को बैट दिखाते हुए प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

नगर अध्यक्ष गोपीकृष्ण नेमा, महामंत्री मुकेशसिंह राजावत, गणेश गोयल और घनश्याम शेर ने बताया कि कुंभकरण की नींद में सोई हुई प्रदेश सरकार को जगाने के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं ने यह आंदाेलन किया है। प्रदेश संगठन द्वारा तय किए गए इस घंटानाद आंदोलन में हम सभी का नेतृत्व खंडवा के सांसद, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमारसिंह चौहान ने किया। भाजपा कार्यकर्ता अपनी-अपनी विधानसभाओं से घंटा घड़ियाल, नगाड़े, ढोल, तासे बजाते हुए भाजपा का झंडा लेकर हरसिद्धी चौक पहुंचे थे। हरसिद्धी चौक से सभी कार्यकर्ता कलेक्टर कार्यालय का घेराव करने पहुंचे।

नेमा ने बताया कि जब से प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आई है, तभी से प्रदेश की जनता हैरान परेशान है। सत्ता में आने के लिए कांग्रेस के नेताओं ने जनता से किए गए किसी भी वादे को पूरा नहीं किया। शिवराजसिंह सरकार के द्वारा जनहित में गरीब व मध्यम वर्ग को लाभ पहुंचाने के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही थीं। इन सभी जनहितैषी योजनाओं को प्रदेश सरकार के द्वारा बंद कर दिया गया, इस वजह से आमजन परेशान है। सरकार नींद में सो रही है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने घंटे-घड़ियाल, ढोल-तासे बजाकर इस सरकार को नींद से जगाने का प्रयास किया है।

वहीं निगमकर्मी को मकान जमींदोज करने पर बैट से पिटाई करने वाले भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय ने मुख्यमंत्री को खुली चेतावनी दी। विजयवर्गीय ने कहा कि अभी तो ये अंगड़ाई है आगे और लड़ाई है। ये तो अभी पहला आंदोलन है। आज हमने कलेक्ट्रेट का घेराव किया है। अगर अब भी कांग्रेस सरकार नींद से नहीं जाती तो मुख्यमंत्री निवास का घेराव किया जाएगा।

भाजपा के घंटानाद आंदोलन के दौरान रावजी बाजार एएसआई एमयू शेख (ASI MU SHEIKH) कलेक्ट्रेट गेट पर ड्यूटी दे रहे थे। कार्यकर्ताओं को रोकने के दौरान वे गश खाकर जमीन पर गिर पड़े। वहां मौजूद साथी पुलिसकर्मियों ने उन्हें उठाया और तत्काल पुलिस वाहन से उन्हें पास के अस्पताल में पहुंचा। ऐसी संभावना जताई गई है कि उन्हें सीने में दर्द हुआ, जिसके बाद वे जमीन पर गिर पड़े। संभवत: उन्हें हार्ट अटैक आया होगा। डॉक्टर उनका इलाज कर रहे हैं।