Loading...

शिक्षक दिवस: अध्यापक शिक्षकों ने रैली निकाली, ज्ञापन सौंपा | AZAD ADHYAPAK SHIKSHAK SANGH

मंडला। आजाद अध्यापक शिक्षक संघ के प्रांतीय आवाहन पर जिलाध्यक्ष संतोष सोनी के नेतृत्व में शिक्षक दिवस के अवसर पर मंडला जिले के हजारों अध्यापकों ने, शिक्षकों ने, संविदा शिक्षकों ने एवं अतिथि शिक्षकों ने कलेक्ट्रेट चौराहे पर एकत्रित होकर अपनी मांगों के समर्थन में आज रैली निकालकर माननीय मुख्यमंत्री, प्रमुख सचिव, आयुक्त ,कांग्रेश जिलाध्यक्ष, श्रीमान कलेक्टर महोदय एवं सहायक आयुक्त को ज्ञापन सौंपा।  

जिलाध्यक्ष संतोष सोनी ने बताया कि अध्यापक संवर्ग शिक्षक संवर्ग में शामिल तो हो गया किंतु 2 वर्ष का समय व्यतीत हो जाने के बावजूद भी शिक्षक संवर्ग के समान हमें सुविधाएं प्राप्त नहीं हो पा रही हैं आज भी अध्यापक से बने शिक्षक  अपनी मांगों को लेकर सड़कों पर है नई सरकार के आने के पश्चात अध्यापकों ने शिक्षकों ने संविदा शिक्षकों ने सोचा था कि अब हमें यह सब परेशानियां नहीं उठानी पड़ेगी। आजाद अध्यापक शिक्षक संघ में 21 जुलाई को शाहजहानी पार्क भोपाल में एकत्रित होकर समस्याओं से अवगत कराया था एवं चेतावनी भी दी थी कि 5 सितंबर तक यदि मांगों का निराकरण नहीं होता है तो शिक्षक दिवस पर अध्यापक शिक्षक प्रदर्शन करेंगे। इसके बावजूद भी कोई भी कार्यवाही प्रचलित नहीं होने पर आज शिक्षक दिवस के शुभ अवसर पर जिले के हजारों अध्यापक, संविदा शिक्षक एवं शिक्षक संवर्ग ने सड़कों पर आकर अपना रोष व्यक्त किया।

यह रही प्रमुख मांगे
अध्यापक शिक्षक संवर्ग को सातवें वेतनमान का लाभ 1 जनवरी 2018 से मासिक वेतन भुगतान में देना सुनिश्चित करें। जिले में कार्यरत अध्यापक संविदा शिक्षक अतिथि शिक्षक  को पांच 5 माह से वेतन अप्राप्त है  42 हेड में डीडीओ की मांग पर पर्याप्त आवंटन प्रदान किया जाए। 1 जुलाई 2018 के पूर्व मृत अध्यापक संवर्ग के आश्रितों को अनुकंपा नियुक्ति की पात्रता प्रदान करें। संविदा शिक्षकों के अध्यापक संवर्ग में संविलियन की कार्यवाही शीघ्र करें । अंतर जिला संविलियन के अंतर्गत मंडला जिले में स्थानांतरित होकर आए शिक्षकों के एम्पलाई कोड जनरेट होने के बाद भी वेतन भुगतान पद के कारण नहीं हो रहा है पद  उपलब्ध कराए जाएं  ज्ञाात हो कि इन्हें भी 6 माह से वेतन अप्राप्त है । 12 वर्ष की सेवा पूर्ण कर चुके शिक्षक संवर्ग को प्रथम क्रमोन्नति का लाभ दिया जाए।  लंबित स्थानांतरण आदेश शीघ्र किए जाएं ।अंशदाई पेंशन के स्थान पर पुरानी पेंशन बहाल की जाए । शिक्षक प्रोफाइल पंजीकरण का पोर्टल ओपन किया जाए । शिक्षकों को प्रत्येक मााह की 5 तारीख तक मासिक वेतन भुगतान सुनिश्चित किया जाए।  2006 में नियुक्त अध्यापक संवर्ग को देय छठवें वेतनमान की विसंगति में सुधार किया जाए । ग्रीन कार्ड का लाभ प्रदान किया जाए।

जिले की स्थानीय समस्याएं
जिले में कार्यरत अध्यापक संविदा शिक्षक एवं शिक्षक संवर्ग को विगत 5 माह से वेतन प्राप्त है शीघ्र वेतन प्रदान किया जाए जिले के विकासखंड मोहगांव के संकुल केंद्र चाबी एवं मोहगांव विकासखंड बिछिया के रामनगर उत्कृष्ट बिछिया एवं लफरा विकासखंड घुघरी के संकुल केंद्रों में विगत 2 वर्षों से छठवां वेतनमान की प्रथम किस्त का भुगतान नहीं हो पाया है शीघ्र भुगतान किया जाए प्रथम किस्त प्राप्त शिक्षक संवर्ग को छठे वेतनमान की द्वितीय किस्त के एरियर की राशि प्रदान किया जाए, शिक्षक शंभ की नियुक्ति  से वंचित अध्यापक संवर्ग को 42 हेड से वेतन भुगतान किया जाए 12 वर्ष की सेवा उपरांत प्रथम क्रमोन्नति का लाभ दिया जाए संविदा शिक्षकों को अध्यापक संवर्ग में संविलियन शीघ्र किया जाए. संकुल केंद्र का समस्त प्रभार डीडीओ को प्रदान किए जाएं।

5 माह से वेतन न मिलने पर अध्यापिका ने मांगा अनिश्चितकालीन अवकाश
मोहगांव विकासखंड में पदस्थ श्रीमती हेमवती पन्द्रे नवीन प्राथमिक शाला खैरी रैयत का एंपलाई कोड जारी होने के पश्चात भी मोहगांव विकासखंड के शिक्षा अधिकारियों एवं वेतन बिल बनाने वाले बाबुओं के द्वारा इन्हें वेतन का भुगतान विगत 5 माह से नहीं किया है जिसके कारण हेमवती पंद्रे जी के पुत्र का कॉलेज में एडमिशन भी नहीं हो पाया जिससे उनका 1 वर्ष खराब हो गया बार-बार निवेदन आवेदन करने के बाद भी वहां पदस्थ बाबू अपनी मनमानी से बाज नहीं आते हैं आज उन्होंने विकास खंड शिक्षा अधिकारी को आवेदन देकर अनिश्चितकालीन अवकाश  के लिए प्रार्थना की है आजाद अध्यापक शिक्षक संघ ने मांग की है कि संकुल केंद्र चाबी में पदस्थ लापरवाह बाबुओं के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए एवं तत्काल वेतन भुगतान करवाया जाए ।अन्यथा की स्थिति में संकुल केंद्र चाबी के सामने आजाद अध्यापक शिक्षक संघ अपना धरना देगा।

रैली स्थल पर ही मनाया शिक्षक दिवस
आजाद अध्यापक शिक्षक संघ की रैली के पूर्व शिक्षकों ने शिक्षक दिवस जिले भर के तमाम शिक्षकों के साथ बड़ी धूम-धाम से मनाया । शिक्षकों ने बताया कि हम ने शिक्षक दिवस का विरोध नहीं किया है हमने शिक्षक दिवस के पावन अवसर पर शासन प्रशासन का ध्यान अपनी और आकर्षित करने के लिए अपनी मांगों को शासन के सामने रखने का प्रयास किया है। उन्होंने बताया कि शासन जिस हर्षोल्लास के साथ शिक्षकों का सम्मान शिक्षक दिवस पर करती है वह शिक्षक हमेशा क्यों परेशान रहता है हमने अपनी समस्याएं शासन के सामने रखी हैं ताकि इसका शीघ्र निराकरण हो सके। मांगों के शीघ्र निराकरण नहीं होने पर पूरे जिले के अध्यापक संविदा शिक्षक एवं शिक्षक अनिश्चितकालीन धरना के लिए मैदान पर उतरेंगे

कांग्रेस अध्यक्ष संजय परिहार को सौंपा ज्ञापन
आजाद अध्यापक शिक्षक संघ ने अपनी मांगों को लेकर मुख्यमंत्री के नाम एवं कांग्रेस जिला अध्यक्ष के नाम आज ज्ञापन सौंपा एवं समस्याओं से अवगत कराया कांग्रेसी अध्यक्ष संजय परिहार जी ने बताया कि आपकी मांगे जायज है एवं में माननीय मुख्यमंत्री महोदय से मिलकर आपकी समस्याओं से अवगत कराकर शीघ्र निराकरण कराने का प्रयास करूंगा उन्होंने बताया कि शिक्षक राष्ट्र की धरोहर है शिक्षक राष्ट्र निर्माता हैं यदि राष्ट्र निर्माता ही दुखी है तो राष्ट्र का कल्याण संभव नहीं है अतः आप सभी निश्चिंत रहें हमारी सरकार शिक्षकों के सम्मान का पूरा ध्यान रखेगी।
इसी अवसर पर कांग्रेस जिला अध्यक्ष को आजाद अध्यापक शिक्षक संघ का संरक्षक नियुक्त करने का प्रस्ताव रखा गया जिस पर उन्होंने अपनी सहमति व्यक्त की।