Loading...

ज्योतिषाचार्य मनोज शर्मा, पत्नी वर्षा व बेटी साक्षी सहित 5 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। करोड़ों की ठगी करने के आरोप में इंदौर से पकड़े गए ज्योतिषाचार्य मनोज शर्मा को पड़ाव पुलिस मंगलवार को ग्वालियर ले आई। पुलिस ने ज्योतिषाचार्य मनोज शर्मा, उसकी पत्नी वर्षा शर्मा, बेटी साक्षी शर्मा, बेटा प्रफुल्ल शर्मा को कोर्ट में पेश कर 5 दिन की पुलिस रिमांड पर लिया है। कोर्ट में ज्योतिषाचार्य के वकील ने उसके खिलाफ झूठे मामले होने का हवाला देते हुए पुलिस रिमांड नहीं देने का आग्रह किया था। पर कोर्ट ने पुलिस की मांग पर उसे रिमांड पर सौंप दिया है। 

अब पुलिस उससे ठगी के पूरे रैकेट व अन्य शहरों में उसकी कंपनी ने क्या गुल खिलाए हैं इसका भी पता लगा रही है। पड़ाव थानाक्षेत्र स्थित आरपी कॉलोनी निवासी ज्योतिषाचार्य मनोज शर्मा ने पिछले दो साल में शहर के कई लोगों को खदान व बेशकीमती रत्न और मोती के कारोबार का झांसा देकर करोड़ों रुपए की ठगी की है। पड़ाव थाना में ज्योतिषाचार्य मनोज शर्मा, पत्नी वर्षा, बेटी साक्षी, बेटा प्रफुल्ल के खिलाफ धोखाधड़ी के दो मामले दर्ज है। इस मामले में 2 महीने से लगातार मनोज शर्मा व उसका परिवार फरार था।

ग्वालियर पुलिस से मनोज पर 30 हजार रुपए का ईनाम भी घोषित था। दो दिन पहले उसे इंदौर के लसूड़िया थाना स्थित ड्रीम सिटी में किराए के फ्लैट से पत्नी व बेटी सहित पुलिस ने गिरफ्तार किया था। मंगलवार को पड़ाव थाना पुलिस उसे लेकर ग्वालियर पहुंची है। मंगलवार दोपहर मनोज, उसकी पत्नी वर्षा व बेटी साक्षी को कोर्ट में पेश किया है। जहां से उन्हें 5 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा है।

मामला क्या है

थाना प्रभारी अनिल सिंह ने बताया कि एनआरआई संजय शर्मा की पत्नी सूक्ष्म शर्मा निवासी परशुराम काॅलोनी सिरोल 2015 में ज्योतिष कार्य व पूजा के संबंध में आरपी काॅलोनी तानसेन नगर में ज्योतिषाचार्य मनोज शर्मा से मिली थीं। ज्योतिष कार्य के दौरान ही उनसे जान-पहचान बढ़ी तो मनोज शर्मा ने उनके पति संजय से विदेश की नौकरी छोड़कर उनकी खनिज कंपनी वर्षा गंगा मैटल एंड मिनरलस प्रा.लि. में काम करने का ऑफर दिया। इसके बाद मनोज ने अपनी कंपनी को बालाघाट में खदान की लीज मिलने की बात बताते हुए उसमेें निवेश कर पार्टनर बनने का ऑफर दिया।

इसके बाद मनोज अपने बेटे प्रफुल्ल व अरविंद कटारे के साथ बालाघाट में खदान दिखाने भी ले गए। मनोज व उसके परिजन को अलग-अलग तिथि में 54 लाख रुपए और कुछ गहने भी शुद्धिकरण के लिए दिए थे, लेकिन रुपए लेने के बाद मनोज व उसके परिजन ने किराए का मकान छोड़ दिया और फिर फोन उठाना भी बंद कर दिया। पुलिस ने प्रफुल्ल शर्मा, मनोज शर्मा, वर्षा शर्मा, साक्षी शर्मा व अरविंद कटारे के खिलाफ ठगी का मामला दर्ज कर लिया है।

ज्योतिषाचार्य पर पूर्व में यह दर्ज हैं मामले 

पड़ाव थाने में दिसंबर 2018 में ज्योतिषाचार्य मनोज शर्मा व प्रफुल्ल शर्मा के खिलाफ खदान के नाम पर विवेक तोमर से 30 लाख रुपए की ठगी का मामला दर्ज है। झांसी रोड थाने में भी फरवरी 2019 में कमलेश चौरसिया की रिपोर्ट पर 17 लाख रुपए की ठगी का मामला दर्ज है। लोकायुक्त पुलिस द्वारा गोहद में डिग्री कॉलेज के निर्माण में भ्रष्टाचार का प्रकरण लोक निर्माण विभाग के अधिकारियोें पर दर्ज किए गए मामले में भी मनोज शर्मा सह आरोपी बने थे। डिग्री कॉलेज के निर्माण का ठेका मनोेज शर्मा ने लिया था।