Loading...

ठगी का नया तरीका: ठगी के शिकार को 2 बार और ठगा | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। क्या ऐसा हो सकता है कि एक ठग किसी को एक बार ठगे। शिकार को इसका पता चल जाए, फिर भी वो दूसरी और तीसरी बार भी उसी ठग के जाल में फंसता रहे। इस केस में ऐसा ही हुआ है। ओएलएक्स (Olx) पर मोबाइल (Mobile) का सौदा तय करने के बाद ठग ने गूगल पे (Google Pay) करने के लिए एकाउंट नंबर मांगा और खाते से अस्सी हजार रुपए उड़ा दिए।

मुरैना का रामू अग्रवाल शिकार हुआ

घटना हजीरा थाना क्षेत्र के मल्लगढ़ा स्थित ट्रिपल आईटीएम कॉलेज (Triple ITM College) के सामने की है। घटना का शिकार पीडि़त ने मामले की शिकायत क्राइम ब्रांच से की है। शिकायत मिलते ही क्राइम ब्रांच ने मामले की जांच शुरू कर दी है। मूलत: मुरैना निवासी रामू पुत्र कैलाशी अग्रवाल (Ramu Putra Kailashi Aggarwal) एक निजी कंपनी में पर्चेज कर्मचारी है और ट्रिपल आईटीएम कॉलेज के सामने राजकुमार परिहार (RAJKUMAR PARIHAR) के मकान में किराए का कमरा लेकर रहता है। उसके मकान मालिक ने अपना मोबाइल ओएलएक्स पर बेचने के लिए पोस्ट किया था। जिस पर एक युवक का कॉल आया। कॉल करने वाले ने उनसे सौदा तय किया और गूगल पे से मोबाइल का पैमेंट करने के लिए उनका एकाउंट नंबर मांगा।

मकान मालिक की हेल्प करने रामू ने गूगल पे के लिए रजामंदी दी 

मोबाइल में कम जानकारी होने पर उन्होंने रामू का नंबर युवक को दे दिया। नंबर मिलते ही रामू को कॉल लगाया। इससे पहले राजकुमार ने रामू को फोन कर दिया था, जिससे वह अश्वस्त था और उसने अपना गूगल पे नंबर दे दिया। नंबर देने के बाद उसके एकाउंट से अस्सी हजार रुपए निकल गए। मामले का पता चलते ही पीडि़त ने इसकी शिकायत क्राइम ब्रांच में की।

किस तरह से हुई एक के बाद एक 3 बार ठगी

बात करते हुए ठग ने उसे उसके मोबाइल पर आए नोटिफिकेशन को ओपन करने के लिए कहा। लिंक ओपन करते ही उसे एक मैसेज दिखा। जिसे रिसीव करते ही ठग ने उसके खाते से दस हजार रुपए उड़ा दिए। रुपए कटने के बाद उसने फिर कॉल लगाया और बताया कि गलती हो गई है, वह दूसरा मैसेज ओपन करे, उसके पैसे वापस लौट आएंगे। इस तरह उसने फिर बीस हजार और उसके बाद चालीस हजार रुपए का मैसेज ओपन कराकर अस्सी हजार रुपए का चूना लगा दिया। पीडि़त ने पुलिस अफसरों को बताया कि उसने रुपए मकान का सौंदा करने के लिए रखे हुए थे और उन्हीं पैसों को ठग ने ठग लिया।

क्या आप जानते हैं यह क्यों हुआ

ज्यादातर लोग एप्लिकेशन को आपरेट करने की पूरी जानकारी नहीं रखते। गूगल पे में एक सुविधा है, पेमेंट रिक्वेस्ट करना। इसके माध्यम से कोई भी आपको रिक्वेस्ट भेज सकता है। यदि आप उसकी रिक्वेस्ट को टेप करते हैं तो माना जाता है कि आपने पेमेंट करने की मंजूरी दे दी है और पेमेंट आपके अकाउंट से उसके अकाउंट में पहुंच जाता है।