Loading...

मप्र हनी ट्रैप: 2 मंत्री, 3 अफसर, 1 मंत्री के सहायक के वीडियो मिले | MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश में सक्रिय हाई प्रोफाइल हनी ट्रैप रैकेट के राज लगातार सामने आ रहे हैं। भाजपा नेता के संपर्क में रहने वाली एक लड़की के मोबाइल से 2 मंत्री, 3 आईएएस अफसर और 1 मंत्री के निजी सहायक का वीडियो मिला है। अभी यह कहना मुश्किल है कि इनमें से कितने शिकार हैं और कितने रैकेट में शामिल हैं। 

आईएएस के वायरल वीडियो वाली भी गिरफ्तार है

बताते हैं कि इन युवतियों के मोबाइल से दो मंत्रियों और तीन बड़े अफसरों की पोर्न फिल्में मिली हैं। जिन युवतियों को हिरासत में लिया गया हैं, उनमें से एक युवती वही बताई जा रही है, जिसका वीडियो एक आईएएस अधिकारी के साथ वायरल हुआ था। सूत्रों के अनुसार कुछ अफसरों और नेताओं को हनीट्रैप होने का शक हैं। गिरफ्तार युवती ने पूछताछ में कई अहम् और सनसनीखेज खुलासे किए हैं। 

रैकेट के कई सदस्य अभी भी बाहर हैं

उसने अपने गिरोह की चार महिलाओं के नाम बताए हैं। चारों महिलाएं भोपाल में रहती हैं। सूत्रों के अनुसार गिरोह की मुख्य सरगना रेविएरा टाउन में किराए से रहती है। जिस मकान में रहती है, वह भाजपा नेता का है। पुलिस ने संदेह के आधार पर उसके पति को भी हिरासत में लिया है। पति-पत्नी खुद को एनजीओ संचालक बताते हैं। एक युवती को मीनाल, एक चूनाभट्टी और तीसरी को गोविंदपुरा क्षेत्र से हिरासत में लिया गया है। महिलाओं से पुलिस ने मोबाइल सहित कई सामग्री बरामद की है। उनके मोबाइल की जांच कराई जा रही है। आईबी, एसबी, एटीएस, सीबीआई जैसी खुफिया एजेंसियों के पुलिसकर्मियों सहित पीएचक्यू के एआईजी प्रणय नागवंशी, एसपी हेडक्वार्टर एएसपी संजय साहूकई अफसरों ने घेराबंद कर इन्हें दबोचा है।

युवतियों से कई बड़े खुलासे होने के आसार

पकड़ी गई युवतिया रसूखदार चेहरों पर दांव लगाती थी और उन्हें प्रेमजाल में फंसाकर वीडियो और पोर्न फिल्में बना लेती थी। बताते है कि उनके मोबाइल में दो मंत्रियों समेत कई रसूखदार चेहरों की पोर्न फिल्में मिली है। इनमें कई आला अधिकारी भी शामिल बताए जा रहे है।पुलिस ने ढंग से जांच और खुलासे किए, तो कई रसूखदार चेहरों से नकाब उतरना तय है।

चश्मे में लगा था कैमरा, मंत्री के निजी सहायक का वीडियो भी है

बताते हैं कि युवतियों ने पहले कुछ वीडियो धोखे में रखकर मोबाइल से बनाए थे। बाद में चश्मे में लगने वाले कैमरे का भी उपयोग किया है। युवतियों ने बताया कि उनका ज्यादातर फोकस मालदार अधिकारी और रसूखदार नेताओं पर होता था। इनमें इंजीनियर से लेकर आईएएस अफसर तक शामिल थे। मौजूदा एक मंत्री के निज सहायक की पोर्न फिल्म भी उनके मोबाइल पर मिली है। उन्होंने पूछताछ में प्रदेश सरकार के कुछ पूर्व मंत्रियों और आईएएस अफसरों के नाम भी बताए हैं। उसके बाद से जांच करने वाले अफसरों में हड़कंप मच गया है।

आरोपियों में एक कटनी और दूसरी छतरपुर की

पुलिस ने जिन महिलाओं को पकड़ा है, उनमें एक मूल रूप से छतरपुर और दूसरी कटनी की रहने वाली है। दोनों ने भोपाल में अपना ठिकाना बनाया था और इस गिरोह के जरिए अफसरों को टारगेट करती थी। उनका कहना है कि अफसरों के पास मोटी रकम होती है। वे एनजीओ को काम दिलाने में भी समक्ष होते है।