Loading...

100 रुपए में 100 यूनिट बिजली योजना लागू, अगले बिल में नजर आएगी | MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश की तीनों विद्युत कंपनियों ने राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना इंदिरा गृह ज्योति योजना को नए स्वरूप में एक सितम्बर 2019 से लागू कर दिया है। इसमें सभी घरेलू बिजली उपभोक्ताओं को शामिल किया गया है। सितम्बर माह की खपत के बाद जारी होने वाले बिलों में योजना का लाभ परिलक्षित होगा।

ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने बताया है कि तीनों वितरण कंपनियों द्वारा इंदिरा गृह ज्योति योजना के लिए साफ्टवेयर अपडेट कर लिया गया है और परीक्षण किया जा रहा है। उपभोक्ताओं को जल्द ही इंदिरा गृह ज्योति योजना में नए बिल वितरित किए जाएंगे। विद्युत वितरण कंपनियों द्वारा युद्ध-स्तर पर इंदिरा गृह ज्योति योजना को लागू करने के कार्य किए जा रहे हैं। योजना में 100 यूनिट तक प्रतिमाह बिजली की खपत होने पर केवल 100 रूपये का बिल जारी किया जाएगा।

अब तक रीडिंग और बिलिंग का सॉफ्टवेयर अपडेट नहीं

इससे पहले खबर आई थी कि बिजली कंपनियों ने अब तक 100 यूनिट तक की खपत पर 100 रुपये और इसके बाद की 50 यूनिट पर सामान्य दर के हिसाब से रीडिंग और बिलिंग का सॉफ्टवेयर अपडेट नहीं किया है। उपभोक्ताओं को अक्टूबर में भी बढ़ी हुई नई दर के हिसाब से ही बिजली बिल जमा करना होगा। तीनों मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनियों के लिए सॉफ्टवेयर अपडेट का काम चल रहा है। सॉफ्टवेयर अपडेट होने के बाद इसे स्पॉट बिलिंग मशीनों में लोड किया जाएगा। 

उपभोक्ताओं को बिल ठीक करवाने बिजली दफ्तर जाना पड़ेगा

जहां ये मशीनें नहीं हैं, वहां कंप्यूटर्स पर इसे अपडेट किया जाएगा। इस प्रक्रिया में पूरा सितंबर बीत सकता है। इसलिए इस महीने के आखिर में होने वाली बिजली रीडिंग के बाद बिल अगस्त में लागू हुईं नई दरों से हिसाब से ही दिया जाएगा। नई दर से बिल मिलने पर उपभोक्ताओं को इसे ठीक करवाने बिजली दफ्तर जाना पड़ेगा। इसके बाद अगर बिल ज्यादा लिया गया है, तो उसे समायोजित करने का प्रावधान है।