Loading...

WEDGE TO CAPITAL व STAR का NISHANT CHATURVEDI गिरफ्तार, FUND BAZAR INDIA के खिलाफ FIR

इंदौर। पुलिस ने वेज टू केपिटल व वेज टू स्टार के संचालक निशांत चतुर्वेदी को अंतत: गिरफ्तार कर ही लिया। पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया है। गिरोह में कंपनी की वाइस प्रेसिडेंट, सेल्स हेड, एचआर हेड, ट्रेनिंग इंचार्ज भी शामिल हैं। यह गिरफ्तारी पुलिस को गुडलक से मिली, नहीं तो पुलिस को शर्मसार करने वाली घटना होने वाली थी। दरअसल, पुलिस ने जिस ग्राहक को भेजकर जाल फैलाया था, आरोपित ने उसका अपहरण कर लिया। वो आसानी से भाग भी गया था परंतु रास्ते में उपराष्ट्रपति के काफिले के कारण वे ट्रैफिक रोक दिया गया था। आरोपित भी उसी में फंस गया और पुलिस ने दबोच लिया। 

पुलिस उसे निशांत को फंसाने जाल फैलाया था, निशांत पुलिस को फंसाकर निकल गया

एसआईटी इंचार्ज एएसपी शैलेंद्रसिंह चौहान (जोन-2) के मुताबिक वेज टू केपिटल व वेज टू स्टार के संचालक निशांत चतुर्वेदी को एक वर्ष से तलाश रहे थे। वह ऑफिस बदलकर पीड़ितों से समझौते कर लेता था। गुरुवार को सूचना मिली कि उसने कुछ लोगों को कोर्ट परिसर में मिलने बुलाया है। टीम ने पीड़ितों से कहा कि जैसे ही निशांत कोर्ट पहुंचे, कॉल कर देना। निशांत पुलिस से दो कदम आगे निकला और बाउंसर लेकर आया। उसने कोर्ट परिसर से पीड़ितों को जबर्दस्ती कार में बैठा लिया।

उपराष्ट्रपति के काफिले में फंस गया

आरोपित की रेकी करने वाले पुलिसकर्मी पीछे भागे, लेकिन वह नेहरू पार्क की ओर घुस गया। संयोग से आगे उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के काफिले के लिए ट्रैफिक रुका हुआ था। आरोपित उसमें फंस गए और निशांत सहित अनुज दीपक व्यास निवासी प्रेमनगर, अक्षय उर्फ यश वर्मा निवासी चितावद, रवि गौड़ निवासी भंवरकुआं, आशीष यादव निवासी साउथ तुकोगंज को गिरफ्तार कर लिया।

अखबार का प्रधान संपादक बताकर धमकाता था

पूछताछ में निशांत ने महिला कर्मचारी अदिति महेश श्रीवास्तव निवासी आदर्श नगर देवास का नाम कबूला। शुक्रवार को पुलिस ने अदिति को भी गिरफ्तार कर लिया। एएसपी के मुताबिक आरोपित खुद को एक अखबार का प्रधान संपादक बताकर धमकाता था। उसने अखबार के नाम से बोर्ड भी लगा रखा था।

इसी तरह मार्केट कैप्टन के संचालक प्रिंस सुनील खेमसरा निवासी महावीर मार्ग खाचरौद (उज्जैन), पंकज राजपूत निवासी खामा पड़वा हरदा, नीलेश त्रिपाठी निवासी भीतरी रामपुर सीधी, तानिया व्यास (ट्रेनिंग इंचार्ज) निवासी तारानी कॉलोनी देवास, मीनल डाले (वाइस प्रेसिडेंट) निवासी विजयनगर, मोनिका सिंह (सेल्स हेड) निवासी स्कीम-54 और प्रगति मिश्रा (एचआर हेड) निवासी ब्रजविहार कॉलोनी को गिरफ्तार किया है। एएसपी के मुताबिक कंपनी के संचालकों का रिमांड लिया शेष आरोपितों को जेल भेज दिया है।

FUND BAZAR INDIA पर वाराणसी में धोखाधड़ी का केस दर्ज

शुक्रवार को रुद्र विहार कॉलोनी वाराणसी निवासी अवधेश कुमार एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र से मिले और फंड बाजार इंडिया कंपनी के प्रोप्राइटर रवि शर्मा और ऑफिसर शुभम सोनी की गिरफ्तारी की मांग की। उन्होंने कहा कि कंपनी का ऑफिस पीयूएस -54 में है। आरोपितों ने निवेश का झांसा देकर करीब 11 लाख की धोखाधड़ी की है। उनके खिलाफ वाराणसी के मडूवाडीह में केस दर्ज है।