Loading...

TWTA की पहली प्रांतीय कार्यकारिणी घोषित

भोपाल। गत दिवस ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन की प्रदेश स्तरीय प्रथम कार्यकारिणी की घोषणा की गई। ट्रायबल वेलफेयर के प्रांत संयोजक एवं प्रांताध्यक्ष डी के सिंगौर के द्वारा प्रांतीय कार्यकारिणी में  महासचिव पद पर मनीष पवार जिला झाबुआ और सुरेश यादव जिला इंदौर को लिया गया है ।  सचिव पद पर हेमेंद्र मालवीय जिला बड़वानी, संयुक्त सचिव पद पर अरुण सिंह कुशवाह जिला धार , कोषाध्यक्ष पद पर नीरज दुबे जिला सिवनी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद पर मुकेश पाटीदार जिला धार, उपाध्यक्ष पद पर साजिर कादरी जिला छिंदवाड़ा, प्रवक्ता पद पर संजीव सोनी मण्डला  को मनोनीत  किया गया। 

साथ ही ट्रायबल के सभी जिलों में ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन की जिला कार्यकारिणी का गठन करने के लिए कमलेश गुप्ता डिंडौरी, जे जे तिवारी अनूपपुर, अजय कंसल श्योपुर, अनुज द्विवेदी अलीराजपुर, संजय मेहता रतलाम, गंगासागर त्रिपाठी सीधी, कमलेश शर्मा बैतूल को जिला संयोजक नियुक्त किया गया। बड़वानी में हेमेन्द्र मालवीय, धार में मुकेश पाटीदार, झाबुआ में मनीष पवार को जिला कार्यकारणी गठन हेतु प्रभारी बनाया गया है जबकि मण्डला में कार्यकारिणी का गठन कर दिया गया है । 

ज्ञात होवे कि अध्यापक संवर्ग में ट्रायबल विभाग के अध्यापकों की समस्यायों को देखते हुए अन्य संगठनों से जुड़े हुए ट्रायबल एरिया में संघर्षरत समर्पित अध्यापक शिक्षक डी के सिंगौर, सुरेश यादव, हेमेन्द्र  मालवीय, मनीष पवार, मुकेश पाटीदार, अरुण सिंह कुशवाह ने प्रांत संयोजक की भूमिका निभाते हुए अपने विभाग के अध्यापकों की समस्यायों का समाधान कराने के उद्देश्य से मई 2019 को ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन का गठन किया, जिसका सार्थक परिणाम सुस्त पड़े ट्रायबल विभाग की कार्यशैली में सुधार हुआ और दो महीनों में ही अध्यापक शिक्षकों का ट्रायबल विभाग में संविलियन के साथ एम्पलाई  कोड  बनने और ट्रेज़री से वेतन भुगतान के रूप में सामने आ गया। 

ट्रायबल विभाग की ढुलमुल स्थानांतरण नीति के कारण काफी अध्यापक शिक्षक असमंजस और परेशानी में थे, जिनका मार्गदर्शन करते हुए एसोसिएशन के प्रांताध्यक्ष डी के सिंगौर ने अपने सतत प्रयासों से स्थानांतरण संबंधी समस्यायों का समाधान कराया। संविलियत अध्यापक शिक्षकों का एम्पलाइ कोड जारी कराने में भी एसोसिएशन ने अपनी महती भूमिका निभाई, किन्तु अभी भी कुछ अध्यापकों का एम्पलाइ कोड जारी नहीं हो सका, जिसके लिए एसोसिएशन लगातार हर संभव प्रयास कर रहा है। हर क्षेत्र में आगे रहने वाले एजुकेशन विभाग में जहां अभी तक एम्पलाइ कोड बनने की कार्यवाही की शुरुआत नहीं हुई, वहीं एसोसिएशन के प्रयास से ट्रायबल विभाग में सातवें वेतनमान का रास्ता साफ हो गया है। 

एजुकेशन विभाग से जारी  सेवा शर्तों की खामियों का ट्रायबल विभाग में सुधार कराने के लिए भी एसोसिएशन लगातार प्रयास कर रहा है। अध्यापक शिक्षकों की सेवा शर्तें, वरिष्ठता, अतिरिक्त वेतन वृद्धि, ग्रीनकार्ड का लाभ, पेंशन, ग्रेच्युटी आदि के लिए एक ओर जहां ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन द्वारा विभाग के उच्च अधिकारियों से सतत् संपर्क कर रहा है, वहीं दूसरी ओर प्रांताध्यक्ष डी के सिंगौर के नेतृत्व में न्यायायल में याचिका दायर कर न्याय की गुहार लगा रहा है। एसोसिएशन की अब तक की कार्यप्रणाली देखते हुए उम्मीद की जा सकती है कि निकट भविष्य में अध्यापक शिक्षकों को काफ़ी समस्यायों से निजात मिल सकेगी। जिसमें अनुकंपा नियुक्ति के प्रकरणों में विशेष ध्यान दिया जायेगा।