Loading...

MP NAGAR में हजारों छात्र सड़क पर उतरे, विरोध प्रदर्शन किया | BHOPAL NEWS

भोपाल। एमपी नगर में नगर निगम द्वारा रखवाई जा रही गुमठियों के विरोध में गुरुवार को 5 हजार छात्र सड़क पर उतर गए। वह विरोध करते हुए पूरे मार्ग पर खड़े हो गए और कहा- हम यहां पर पर गुमठियां नहीं रखने देंगे। छात्रों के इस विरोध प्रदर्शन से 4 बजे के बाद एमपी नगर जाम हो गया। मौके पर पहुंचे भारी पुलिस बल ने उन्हें समझाइश दी और नगर निगम ने गुमठियां उठाईं, इसके बाद ही वह सड़क से हटे।    

जानकारी के अनुसार, गुरुवार को सुबह 6 बजे नगर निगम का अमला आया और एमपी नगर में रेल पटरियों के 200 से ज्यादा गुमठियां रखवाना शुरू कर दिया। स्थानीय लोगों ने इसका विरोध किया और बाद में कोचिंग संचालकों ने भी विरोध शुरू कर दिया। उनका कहना था कि हम अपनी गाड़ियां कहां पार्क करेंगे। 

शाम को 4 बजे जब कोचिंग छात्रों का आना शुरू हुआ तो विरोध प्रदर्शन बढ़ गया। छात्र वहां पर आकर खड़े हो गए और विरोध प्रदर्शन करने लगे। धीरे-धीरे 5 हजार से ज्यादा कोचिंग छात्र एकत्र हो गए और उन्होंने साफ कर दिया कि वह गुमठियां नहीं रखने देंगे। 

रहवासियों ने निगम को भेजा लीगल नोटिस

इधर, एमपी नगर जोन वन और जोन टू के रहवासियों की ओर से गुमठियां लगने के विरोध में निगम प्रशासन को लीगल नोटिस जारी किया है। नोटिस में कहा गया है कि यह बीडीए की जमीन है, यहां के रहवासी सालाना लीज और भू-भाटक जमा कर रहे हैं। नगर निगम का प्रॉपर्टी टैक्स भी दे रहे हैं। रोड बनाने के लिए भी आठ साल पहले निगम को डेवलपमेंट चार्ज दिया गया है। इसके बाद भी गुमठियां रखवाकर उनके साथ दुर्व्यवहार किया जा रहा है। 

रेलवे ने कहा- हद के बाहर रखो गुमटियां 

एमपी नगर में रेलवे ट्रैक के किनारे गुमठियां रखवाने की तैयारी से रेलवे और नगर निगम के बीच उपजा विवाद खत्म हो गया। बुधवार को नगर निगम और रेलवे अधिकारियों की बैठक हुई। रेलवे के अधिकारियों ने स्पष्ट कर दिया कि रेलवे की जितनी जमीन है और जहां बाउंड्रीवॉल है, उससे बाहर गुमठियां रखने में रेलवे को कोई आपत्ति नहीं है। 

बुधवार को ही निगम अधिकारियों ने ठेले-गुमठी वालों को बुलाकर मल्टीलेवल पार्किंग में लॉटरी करवाई। जिसमें 165 लोगों को टोकन नंबर वितरित किए गए। इसके बाद जगह आवंटित की जाएगी। बताया जा रहा है कि एमपी नगर में ट्रैक के किनारे 200 ठेले रखने की जगह का आकलन किया गया है। बाकी को दूसरी जगहों पर आवंटन किया जाएगा। ये वही गुमठी वाले हैं, जिन्हें एमपी नगर से हटाया गया था।