Loading...

INVESTMENT की आड़ में ठगी करने वाली 21 कंपनी सील, महिला सहित तीन गिरफ्तार | INDORE NEWS

इंदौर। निवेश की आड़ में ठगी करने वाली 41 एडवाइजरी कंपनियों (Advisory companies) को चिन्हित कर एसपी ने सात थानों के टीआई को छापे के लिए पत्र लिखा, लेकिन छह टीआई कार्रवाई करना भूल गए। एक टीआई ने छापा तो मारा लेकिन कंपनियों के दफ्तर बंद हो चुके थे। पुलिस ने दावा किया कि एक महिला सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर दफ्तर सील किए हैं। दोनों के खिलाफ दो केस दर्ज किए हैं।

एसपी (पूर्व) मो. यूसुफ कुरैशी ने पत्र में कंपनी का नाम-पता और उन अफसरों का नाम लिखा जिन्हें कार्रवाई का जिम्मा सौंपा गया। छह टीआई त्योहारों में व्यस्तता का हवाला देकर कार्रवाई नहीं कर पाए। विजय नगर थाना टीआई तहजीब काजी ने शुक्रवार सुबह वेल्थ आईटी ग्लोबल और एबी रिसर्च ग्रुप (Wealth IT Global and AB Research Group) पर छापा मारा और संचालक कपिल, मयंक व काजल उर्फ सुमोनी को गिरफ्तार कर लिया। टीआई के मुताबिक दोनों ही कंपनी छह जगहों पर काम कर रही थीं। इनके दफ्तर सील कर दिए हैं। सहयोगी मोहित मगलानी, प्रिया शर्मा, नितिन शर्मा, सत्येंद्र शर्मा, अजय तिवारी व विजय मित्तल की तलाश है। आरोपितों से पूछताछ की तो बताया कि वे दफ्तर बंद कर चुके हैं।

कंपनियों की सूची

विजय नगर थाना : एनालिस एक्सचेंज, कैपिटल मार्स, कैपिटल मंत्रा, कैपिटल द कैपिटल स्काई, कार्ट रिसर्च, ड्रीम रिसर्च, ईआरएच रिसर्च हाउस, जीवीएम रिसर्च, इन्वेस्टमेंट एकेडमी, इन्वेस्टर इंडिया, काइट्स रिसर्च, मैक्स इंडिया रिसर्च, मनी इन्क्रेस, मनी ट्री रिसर्च, प्रोफिसेंट रिसर्च, प्रोफिस मंत्रा, सिक्योर इन्वेस्टमेंट, श्री रिसर्च, विवान रिसर्च, वेल्थ अगैन, डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू एपल्सूसानालिस्टक।

तुकोगंज : ए-टू फाइनेंशियल, कैपिटल लाइव, एक्जेक्ट की, प्रतीक पटेल, गौरी पांडे, कशिश ग्रेवाल, मौनार्च नेटवर्थ कैपिटल, विशवर्थ फाइनेंशियल सर्विस।

पलासियाः इक्यूटी मनी गुरु, कैप विजन, फाइनेंशियल बाजार, निफकॉन इंस्टिट्यूट, प्रीमियम कैपिटल, ट्रेड गुरु।

लसूड़िया : 777 रिसर्च डॉट कॉम।

हीरानगर : केडी कैपिटल और कैपिटल विस्टा रिसर्च।

खजराना : इन्वेस्टमेंट इंडिया एडवाइजरी।

कनाड़िया : कैश काउ रिसर्च।

एमआईजी : प्रीमियम रिसर्च फाइनेंशियल, ग्लोबेक्स मनी।

काजी के मुताबिक फरियादी चंद्रप्रकाश सिंघई को आरोपित प्रिया ने कॉल किया और कहा कि तीन लाख रुपए निवेश करने पर 25 लाख का मुनाफा होगा। उससे करीब आठ लाख रुपए ले लिए। बाद में कहा उनका काम नितिन करवाएगा। निवेशक का करीब 40 लाख का घाटा करवा दिया गया। इस कंपनी का संचालक कपिल है। नितिन और प्रिया की तलाश है। इसी तरह दयानंद शर्मा की शिकायत पर मयंक और काजल को गिरफ्तार किया है। आरोपित काजल सुमोनी के नाम से कॉल करती थी। उसे भी लालच दिया और 14 लाख ठग लिए।