Loading...

आकांक्षा सुसाइड केस : संदीप भदौरिया सेलून में काम के बहाने रेप करता था | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। शारीरिक शोषण और मानसिक प्रताडऩा (  Physical abuse and mental abuse) से तंग आकर ही छात्रा ने फांसी लगाकर जान दी थी। घटना इंदरगंज थाना क्षेत्र के फालका बाजार में मई माह की है। पुलिस ने जांच के बाद आरोपी के खिलाफ आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मामला दर्ज कर लिया है।  

इंदरगंज थाना पुलिस ने बताया कि संजय नगर निवासी 19 वर्षीय छात्रा पढ़ाई के साथ ही एक फालका बाजार स्थित सेलून में काम करती थी। विगत 29 मई को छात्रा ने फांसी लगाकर जान दे दी। छात्रा की मौत के बाद पुलिस ने जांच की तो पता चला कि सेलून संचालक संदीप भदौरिया छात्रा का शारीरिक शोषण एवं मानसिक प्रताडि़त कर रहा था। पुलिस का दावा है कि सेलून संचालक संदीप भदौरिया (Saloon Director Sandeep Bhadoria) के शोषण से दुखी होकर छात्रा ने फांसी लगाकर जान दी थी। पुलिस ने मामले की जांच के बाद आरोपी संदीप भदौरिया के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। 

यह है मामला 

हजीरा स्थित संजय नगर की रहने वालीं आकांक्षा पुत्री प्रदीप पाल (20) (Aakanksha daughter Pradeep Pal ) फालका बाजार में संदीप भदौरिया के डोंट वरी स्किन एंड हेयर केयर सैलून (Don't worry skin and hair care salon) पर काम करती थीं। तीन दिन पहले वह अपने घर से सैलून के लिए निकली थीं। इसके बाद घर नहीं गईं। परिजनों ने जब उनसे बात की तो बोली कि वह काम अधिक होने की वजह से पार्लर पर ही हैं। बुधवार दोपहर करीब 1 बजे पार्लर पर वह और एक पुरुष कर्मचारी अरमान मौजूद थे। अरमान सामान खरीदने के लिए बाहर चला गया। 

जब वह लौटकर आया तो अंदर से सैलून का दरवाजा बंद था। उसने कुछ लोगों की मदद से दरवाजा तोड़ा तो आकांक्षा फांसी के फंदे पर लटकी थीं। खिड़की के एंगल से दुपट्टा बंधा था और फंदा गले में था। आकांक्षा के पैर मुड़े थे, जो जमीन पर टिके थे। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। इंदरगंज थाना पुलिस पहुंची और शव को उतरवाकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।