Loading...    
   


GWALIOR NEWS : तिघरा वाटर ट्रीटमेंट प्लांट खतरे में, डूब सकता है पूरा प्लांट

ग्वालियर। तिघरा वाटर ट्रीटमेंट प्लांट के पास मैन पंपिंग लाइन का ज्वाइंट खुलने से पूरा प्लांट खतरे में आ गया है। करीब एक पखवाड़े से खुले ज्वाइंट के कारण हर दिन दो लाख से ज्यादा लोगों का फिल्टर पानी बर्बाद हो रहा है। फिल्टर पानी दक्षिण विधानसभा क्षेत्र की टंकियों से शहर में सप्लाई होता है। ज्वाइंट खुलने से टंकियां नहीं भर पा रही हैं जिससे पार्षद से लेकर जनता तक परेशान है। प्लांट प्रभारी ने 15 दिन बाद निगम प्रशासन को पत्र भेजकर ज्वाइंट सुधारने शट टाउन की अनुमति मांगी है।

तिघरा बांध के पास 45 एमएलडी क्षमता का वाटर ट्रीटमेंट प्लांट बना है। तिघरा का कच्चा पानी वहां फिल्टर होकर दक्षिण विधानसभा की टंकियों में पहुंचता है। एक पखवाड़े पहले प्लांट के पास ही मैन पंपिंग लाइन का ज्वाइंट खुल गया। इससे फिल्टर पानी बहने लगा। धीरे-धीरे ज्वाइंट ज्यादा खुल गया इससे पानी का बहाव तेज हो गया। नीचे से पानी निकलने पर मिट्टी धसक गई।

पानी निकलने का असर प्लांट तक पहुंच गया है क्योंकि मशीनरी तक की जमीन इसकी जद में आने लगी है। नीचे से जमीन खोखली होती जा रही है। प्लांट को चूंकि 24 घंटे चालू रखा जाता है इसलिए 24 घंटे मैन पंपिंग लाइन से पानी का गुबार फूट रहा है। यदि ज्वाइंट पूरा खुल गया तो करोड़ों रुपए का प्लांट डूब जाएगा। इतनी बड़ी घटना से भी जिम्मेदार अधिकारी गंभीर नही हैं। प्लांट प्रभारी केसी अग्रवाल की जानकारी में हैं और वे उसे देख भी चुके हैं लेकिन काम करने शट टाउन नहीं करा सके हैं।

इनका कहना है

ज्वाइंट खुलने से पानी बह रहा है। प्लांट प्रभारी ने एक दिन पहले ही शट टाउन के लिए पत्र भेजा है। हमने लाइन सही कराने शट टाउन की अनुमति दे दी है। -आरएलएस मौर्य, अधीक्षण यंत्री पीएचई


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here