Loading...

GWALIOR NEWS | ढाई करोड़ की ठगी: जितेन्द्र का बहनोई नामसिंह नरवरिया गिरफ्तार

ग्वालियर। फर्जी आवंटन पत्र की मदद से प्रॉपर्टी डीलर की ढाई करोड़ की जमीन को बेचने वाले एक आरोपी को क्राइम ब्रांच की टीम ने दबोचा है। क्राइम ब्रांच ने पकड़े गए आरोपी से पूछताछ शुरू कर दी है। 

थाना प्रभारी क्राइम डीपी गुप्ता ने बताया कि चार माह पूर्व विश्वविद्यालय थाना पुलिस ने रजनीगंधा कॉलोनी निवासी शिवसिंह नरवरिया पुत्र माधव सिंह नरवरिया की शिकायत पर जीडीए से आवंटित हुई ढाई करोड़ की जमीन को फर्जी आवंटन पत्र से अपने रिश्तेदारों के नाम कराने वाले जितेन्द्र नरवरिया तथा उसके रिश्तेदारों पर मामला दर्ज हुआ था। इस मामले में पुलिस ने मामला दर्ज होने के बाद जीतेन्द्र को पकड़ लिया था। वहीं शेष आरोपी फरार हो गए थे। उन्हें सूचना मिली कि आरोपी रामसिंह नरवरिया अपने घर आया हुआ है, इसका पता चलते ही क्राइम ब्रांच ने उसे दबोच लिया। 

सनद रहें कि रजनीगंधा कॉलोनी निवासी शिवसिंह नरवरिया पुत्र माधव सिंह नरवरिया निजी व्यवसाय करते हैं। कुछ समय पूर्व जीडीए से शताब्दीपुरम में उनके तथा जितेन्द्र नरवरिया के नाम दो बीघा 11 बिस्वा जमीन आवंटित हुई है। मित्रता के चलते उन्होंने अलग-अलग आवंटन ना कराते हुए जमीन का संयुक्त आवंटन करा लिया। इसके बाद जितेन्द्र नरवरिया ने इसी जमीन को फर्जी आवंटन पत्र बनवा कर बेच दिया। 

इस मामले में पुलिस ने जांच के बाद जितेन्द्र नरवरिया तथा उसके बहनोई रामसिंह नरवरिया तथा अन्य रिश्तेदारों अवधेश नरवरिया, अजय सिंह और रामवीर सिंह नरवरिया के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। धोखाधड़ी की गई जमीन की कीमत करीब दो करोड़ बताई गई है।