Loading...

BHOPAL में सामाजिक कार्यकर्ता की फांसी पर झूलती लाश मिली

भोपाल। अवधपुरी इलाके में रहने वाले एक सामाजिक कार्यकर्ता की उसी के घर में फांसी पर झूलती हुई लाश मिली है। जब यह घटना घटी, युवक की पत्नी घर के बाहर पड़ौसी महिला से बात कर रही थी और युवक अंदर था। युवक के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। जबकि पुलिस इसे आत्महत्या का मामला मान रही है। युवक महाराष्ट्र का रहने वाला था। 12 साल पहले भोपाल आया था। 

अवधपुरी थाने के एएसआई राकेश सिंह परिहार के अनुसार मंगेश नागपुरे (32) मूलतः महाराष्ट्र का रहने वाला था। वह वास्तु विहार कॉलोनी अवधपुरी में किराए से कमरा लेकर पत्नी और बेटे के साथ रहता था। मंगेश एक एनजीओ का काम करता था। उसका छोटा भाई योगेश नागपुरे सीहोर में रहता है। रविवार की सुबह करीब दस बजे मंगेश की पत्नी सुनीता पड़ोस में रहने वाली महिला से बात कर रही, जबकि बेटा बाहर खेल रहा था। 

इसी दौरान मंगेश पंखे से रस्सी बांधकर फांसी लगाकर जान दे दी। छोटे भाई योगेश ने पुलिस को बताया कि भाभी सुनीता ने उसे फोन पर सूचना दी, जिसके बाद वह भोपाल पहुंचा। उसने भी किसी प्रकार की कोई शंका जाहिर नहीं की है। तीन भाई बहनों में मंगेश सबसे बड़ा था। उसके माता-पिता महाराष्ट्र में खेती करते हैं। मंगेश करीब बारह साल से भोपाल में एनजीओ में काम कर रहा था।