Loading...

5वीं-8वीं की साल में 3 परीक्षाएं होंगी, दिशा-निर्देश जारी | MP NEWS

भोपाल। इस सत्र से मप्र बोर्ड के सरकारी व निजी स्कूलों में पढ़ रहे पांचवी व आठवीं कक्षा के बच्चे साल में तीन बार परीक्षा देंगे। छात्रों को तिमाही, छमाही और वार्षिक परीक्षा देनी होगी। राज्य शिक्षा केंद्र ने तिमाही परीक्षा के संबंध में दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। आदेश के मुताबिक तिमाही परीक्षा सितंबर माह के अंतिम सप्ताह में होगी। परीक्षा के संबंध में भी निर्देश जारी किए गए हैं।

राज्य शिक्षा केंद्र तैयार करेगा पेपर

तिमाही परीक्षा के लिए भी राज्य शिक्षा केंद्र प्रश्न पत्र तैयार करेगा और जिला स्तर पर स्कूलों में भेजेगा। लेकिन कॉपियों का मूल्यांकन शाला स्तर पर होगा। इसके बाद दिसंबर माह में छमाही परीक्षा और फरवरी माह में वार्षिक परीक्षा यानि बोर्ड परीक्षा होगी। ज्ञात हो कि शासन ने 2 मार्च को गजट नोटिफिकेशन जारी कर मप्र बोर्ड के 5वीं व 8वीं कक्षा में इस सत्र से बोर्ड परीक्षा आयोजित कराने का फैसला किया है।

30 अंक का प्रश्न पत्र होगा

पांचवी व आठवीं कक्षा के तिमाही का प्रत्येक प्रश्नपत्र 30 अंक का होगा। उत्तरपुस्तिकाओं की व्यवस्था प्रधानाध्यापक करेंगे। इसके लिए केंद्र की ओर से स्कूलों को 5वीं के प्रति परीक्षार्थी के लिए 4 रुपए और 8वीं के लिए 5 रुपए देंगे। कॉपियों के मूल्यांकन की जिम्मेदारी जिला शिक्षा अधिकारी के निर्देशन में होंगे।

प्रतिभा पर्व के बदले होगी छमाही परीक्षा

पहले 5वीं व 8वीं कक्षा में बच्चों के मूल्यांकन के लिए छमाही परीक्षा के बदले प्रतिभा पर्व होता था। अब छमाही परीक्षा होगी। इसके बाद वार्षिक मूल्यांकन के बदले बोर्ड परीक्षा होगी। इसमें बच्चों को अंक भी मिलेंगे और फेल व पास का रिजल्ट भी जारी होगा।

निर्देश जारी कर दिए हैं

अभी 5वीं व 8वीं के तिमाही के लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। इस बार से छमाही और वार्षिक परीक्षा भी ली जाएगी। 
आईरीन सिंथिया जेपी, संचालक, राज्य शिक्षा केंद्र