Loading...

नीतीश के नजदीकी विधायक अनंत सिंह के यहां एके-47 राइफल, 2 जिंदा बम मिले

नई दिल्ली। सीएम नीतीश कुमार के नजदीकी नेता एवं निर्दलीय विधायक अनंत सिंह के घर छापेमारी करके पुलिस ने एक एके-47 बरामद किया। पुलिस ने मोकामा विधायक अनंत सिंह के पैतृक गांव लदमा में पटना ग्रामीण एसपी के नेतृत्व में शुक्रवार सुबह से ही छापेमारी शुरू की जो अब तक जारी है। जानकारी के मुताबिक पुलिस ने विधायक के घर से दो बम भी बरामद किया है। बाहुबली विधायक के ऊपर दर्जनों हत्या और हत्या के प्रयास के केस पहले से चल रहे हैं।

विरोधी नेता की हत्या की साजिश रच रहे थे

बाहुबली विधायक अनंत सिंह पुलिस के रडार पर एक बार फिर तब आ गए जब पिछले दिनों एक ऑडियो क्लिप वायरल हुआ जहां वह अपने सहयोगी के साथ मिलकर अपने विरोधी की हत्या की साजिश रचते हो सुनाई दिए। इसी क्रम में पुलिस ने पिछले ही हफ्ते अनंत सिंह का पटना में वॉइस सैंपल टेस्ट भी कराया है।

सूत्रों के मुताबिक इसी मामले को लेकर पुलिस पिछले कुछ दिनों से अनंत सिंह के कई ठिकानों पर दबिश बना रही थी और आज पुख्ता जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने दल बल के साथ आज सुबह 3 बजे अनंत सिंह के गांव में छापेमारी शुरू की और एके-47 बरामद किया।

इधर, पटना में अनंत सिंह ने आनन-फानन में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस किया और मुंगेर से जदयू सांसद ललन सिंह पर उन्हें फंसाने का आरोप लगाया। अनंत सिंह ने कहा कि कोर्ट ने उनके संपत्ति की कुर्की जब्ती का आदेश नहीं किया है उसके बावजूद भी पुलिस ने छापेमारी के दौरान उनके घर पर तोड़फोड़ की है।

बाहुबली विधायक ने आरोप लगाया क्योंकि उनकी पत्नी नीलम सिंह ने 2019 लोकसभा चुनाव में मुंगेर से ललन सिंह के खिलाफ कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ी थी इसी वजह से ललन सिंह उन्हें परेशान कर रहे हैं। अनंत सिंह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से गुहार लगाई है और उन्हें न्याय दिलाने की अपील की है।

दिलचस्प है, किसी ज़माने में अनंत सिंह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहद करीबी हुआ करते थे। 2005 में वह पहली बार जदयू के टिकट पर चुनाव जीते थे और 2010 में भी वह जदयू के टिकट पर विधायक बने। 2015 में अनंत सिंह को हत्या के मामले में उन्हें जेल जाना पड़ा था जिसके बाद उन्होंने जेल से ही मोकामा से निर्दलीय चुनाव लड़ा और विधायक बने।