Loading...

शादी में रुकावट दूर करने श्रावण मास के विशेष उपाय | VIVAH ME BADHA SAWAN MAAS KE UPAY

कई बार समझ नहीं आता कि विवाह में बाधा क्यों आ रही है। सबकुछ ठीक होता है। बातचीत भी हो जाती है लेकिन अंत में रिश्ता टूट जाता है। शादी में समस्याएं आएं हैं। ज्योतिष के अनुसार विवाह रिश्तों में पेशानियों के कई कारण होते हैं। यदि आपकी कुंडली के पांचों तत्वों में अग्नि या वायु तत्व की मात्रा ज्यादा होने पर अक्सर विवाह होने में बाधा आती है। 

इन कारणों से विवाह में बाधा उत्पन्न होती है

- चन्द्रमा,शुक्र अथवा बृहस्पति की स्थिति कमजोर होने पर भी विवाह होने पर बाधा आती है।
- कुंडली में मंगल दोष अथवा ग्रहण योग होने पर भी विवाह होने पर बाधा आने लगती है।
- अष्टम अथवा द्वितीय भाव में पाप ग्रह होने पर भी व्यक्ति अपनी शादी के लिए परेशान रहता है।
- सप्तम भाव या सप्तमेश की स्थिति पापक्रांत होने पर भी शादी से जुड़ी समस्याएं झेलनी पड़ती हैं।

श्रावण मास में शादी में आ रहीं समस्याओं को दूर करने क्या उपाय करें

- किस प्रकार सावन का महीना वैवाहिक जीवन की बाधाओं को दूर कर सकता है?
- सावन के महीने में ही जल तत्त्व की मात्रा ज्यादा होती है जो वास्तव में पारिवारिक जीवन का कारक तत्व माना जाता है.
- मंगल दोष, ग्रहण योग या विवाह न होने का योग सावन में ज्यादा बेहतर तरीके से शांत किया जा सकता है.
- सावन के महीने के शिव जी अधिष्ठाता होते हैं. इनकी पूजा से भाग्य बदल सकता है.
- अगर सावन के महीने में शिव और पार्वती की संयुक्त पूजा की जाए तो न केवल विवाह शीघ्र होता है, बल्कि अगर वैवाहिक जीवन में बाधा है तो वो भी दूर हो जाती है.

यदि जातक की उम्र 18 से 24 वर्ष के बीच हो तो-

- सावन में नियमित रूप से पीले वस्त्र धारण करें. 
- शिव पार्वती को संयुक्त रूप से एक ही माला अर्पित करें. 
- सायंकाल शिव-पार्वती की संयुक्त पूजा करें.
- "ॐ गौरी शंकराय नमः " का जाप करें.
- यह प्रयोग सावन में लगातार 09 दिन करें.

यदि जातक की उम्र 25 से 30 वर्ष हो तो-

- सावन में पीले वस्त्र धारण करके पूजा करें. 
- शिव लिंग पर सुगंध अर्पित करें, फिर जल की धारा चढ़ाएं. 
- "ॐ पार्वतीपतये नमः"का 108 बार जाप करें. ऐसा करने से आपकी मनोकामना पूर्ण होगी. 
- यह प्रयोग सावन में लगातार 09 दिन तक करें.

यदि जातक की उम्र 30 वर्ष से ज्यादा हो तो-

- 108 बेल पत्र ले लें. 
- हर बेलपत्र पर चन्दन से "राम" लिखें. 
- इसके बाद एक एक करके सारे बेलपत्र शिवलिंग पर चढ़ाएं. 
- हर बेलपत्र चढाते समय "ॐ नमः शिवाय"कहें.  
- यह प्रयोग सावन के हर सोमवार को करें. 
- आपका विवाह शीघ्र हो जाएगा.  

सावन में करें ये उपाय-

- सावन में रोजाना शिव जी को सफेद चन्दन लगाएं।
- इसके बाद उन्हें जल अर्पित करें।
- इससे दाम्पत्य जीवन की समस्याएं दूर हो जाएंगी।