Loading...

लेडी सिंघम SI श्रद्धा सिंह के खिलाफ रिटायर्ड CSP सास को पीटने का मामला दर्ज

इंदौर। मप्र पुलिस की लेडी सिंघम एसआई श्रद्धा सिंह के खिलाफ इंदौर में उनकी सास प्रभा चौहान ने मारपीट करने का मामला दर्ज कराया है। आरोप है कि एसआई श्रद्धा सिंह और उनकी पटवारी बहन पूजा परिहार ने मिलकर श्रद्धा की सास प्रभा चौहान और पति अभिषेक चौहान को पीटा। पीड़ित सास की शिकायत पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर जांच प्रारंभ की है।

सास प्रभा चौहान ने मामला दर्ज कराया


मामला लसूडिया थाने का है। थानाक्षेत्र में रहने वाली रिटायर्ड सीएसपी प्रभा चौहान की उनकी एसआई बहू श्रद्धा सिंह पंवार ने पिटाई कर दी। जानकारी के अनुसार 7 साल पहले प्रभा के बेटे अभिषेक की शादी श्रद्धा से हुई थी। बाणगंगा थाने में एएसआई के पद पर कार्यरत श्रद्धा की अपने पति के साथ ही सास-ससुर से नहीं बनती है। इसके चलते उनमें अक्सर विवाद होता रहता है।

पुलिस को प्राप्त शिकायत के अनुसार कल रात श्रद्धा अपनी मां मधु परिहार और उज्जैन में पदस्थ पटवारी बहन पूजा परिहार के साथ सास प्रभा चौहान के घर पहुंची और विवाद करने लगी। विवाद के दौरान श्रद्धा उसकी मां और बहन ने मिलकर प्रभा की पिटाई कर दी। प्रभा को बचाने आए उनके पति को भी आरोपियों ने पीट दिया। इसके साथ ही प्रभा की गर्भवती बेटी को भी आरोपियों द्वारा पीटे जाने का आरोप है।

वहीं मामले में आरोपी श्रद्धा सिंह का कहना है कि उसने नहीं बल्कि उसके पति अभिषेक और ससुराल के अन्य लोगों ने उसके साथ मारपीट की है। प्रभा की शिकायत पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर जांच प्रारंभ की है।

कौन है एसआई श्रद्धा सिंह 

इंदौर की रहने वाली 28 साल की एसआई श्रद्धा सिंह ने एमबीए किया है। उनके पिता रामबहादुर सिंह परिहार पुलिस में थे। इसलिए घर का माहौल शुरू से ही पुलिसिया था। पढ़ाई के बाद टेलीकॉम कंपनी में ऑफिसर अभिषेक सिंह से उनकी शादी हो गई। उनका एक तीन साल का बेटा भी है।

एक इंटरव्यू में श्रद्धा सिंह ने बताया था कि पिता पुलिस में थे इसलिए पुलिस के बारे में बहुत का जानती थी। शादी के बाद उन्होंने पुलिस में आने का मन बनाया और आवेदन भी किया। सिलेक्ट होने के बाद परिवार को टाइम नहीं दे पाने का सोचकर नौकरी ज्वाॅइन नहीं किया।

श्रद्धा सिंह का कहना था कि मेरी सासूमां प्रभा सिंह भी पुलिस में थीं, इसिलए उन्होंने मुझे प्रोत्साहित किया कि उन्हें नौकरी ज्वाॅइन करना चाहिए। सास और पति के कहने पर मैंने फिर से अप्लाय किया और मेरा सिलेक्शन हो गया। इसके बाद मैंने पुलिस की नौकरी ज्वॉइन कर ली।