Loading...

आकाश विजयवर्गीय: जमानत का जश्न मनाने वालों के फोटो-वीडियो और लिस्ट | MP POLITICS NEWS

भोपाल। टाइम्स नाऊ दिल्ली की तरफ से खबर आ रही है कि इंदौर में हुए विधायक आकाश विजयवर्गीय मामले में अब उन तमाम नेताओं के फोटो-वीडियो सहित लिस्ट तैयार हो रही है कि जिन्होंने आकाश विजयवर्गीय की हिंसक कार्रवाई का समर्थन किया और जमानत पर जश्न मनाया। बताया गया है मध्यप्रदेश के कई नेताओं एवं अज्ञात सूत्रों की तरफ से भाजपा मुख्यालय में कई फोटो-वीडियो भेजे गए हैं। सभी को समायोजित किया जा रहा है। 

आकाश सहित समर्थकों के खिलाफ कार्रवाई तय

सूत्रों के अनुसार, पार्टी ने इंदौर में 26 जून को हुए पूरे घटनाक्रम की रिपोर्ट मंगा ली है, साथ ही आकाश के समर्थन में सामने आए नेताओं और जेल से छूटने पर स्वागत करने वालों की भी सूची तैयार कर ली गई है। संभावना है कि केंद्रीय नेतृत्व की राय सामने आने के बाद पार्टी की राज्य इकाई कोई बड़ा फैसला ले सकती है। इस स्थिति में आकाश के अलावा उन नेताओं पर गाज गिरना भी तय माना जा रहा है जो आकाश के साथ खड़े नजर आए थे। कार्रवाई इसलिए भी तय मानी जा रही है क्योंकि पीएम नरेंद्र मोदी ने इस मामले में सख्त रुख अपनाया है। 

रातों-रात सारे इंदौर शहर में पोस्टर लग गए थे

मध्य प्रदेश में नगर निगम अधिकारियों की पिटाई करने के मामले में गिरफ्तार किए गए भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय के समर्थन में रातों-रात इंदौर शहर में जगह-जगह पोस्टर लग गए। इन पोस्टरों में आकाश विजयवर्गीय की एक तस्वीर है जिसमें कैप्शन लिखा- 'सैल्यूट आकाश जी।' इस तरह यह साबित करने की कोशिश की गई कि आकाश ने जो भी किया, सही था। क्योंकि इन सभी पोस्टर्स पर किसी अन्य नेता का नाम या फोटो नहीं था अत: यह माना गया कि सभी पोस्टर्स आकाश विजयवर्गीय की ओर से लगवाए गए हैं ताकि उनके समर्थन में माहौल बन सके। 

घटनाक्रम पर एक नजर 

इंदौर में 26 जून को एक जर्जर मकान गिराने गए नगर निगम के अधिकारी धीरेंद्र बायस पर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के विधायक पुत्र आकाश विजयवर्गीय ने क्रिकेट के बैट से हमला कर दिया था। आकाश विजयवर्गीय क्रिकेट खेलने के शौकीन हैं। हमले के बाद वहां खड़ीं सरकारी गाड़ियों को भी नुक्सान पहुंचाया। पुलिस ने गिरफ्तार किया तो सोशल मीडिया सहित सारे शहर में आकाश विजयवर्गीय की कार्रवाई के समर्थन में प्रायोजित अभियान चलाया गया। जमानत पर जेल से रिहा हुए तो जश्न मनाया गया। कुछ इस तरह जैसे आकाश विजयवर्गीय एक सफलता प्राप्त करके लौटे हैं। 

सोशल मीडिया से जश्न के फोटो वीडियो गायब

कैलाश विजयवर्गीय समर्थकों ने घटना के तत्काल बाद से ही आकाश विजयवर्गीय के समर्थन में पोस्टिंग शुरू कर दी थी। आकाश विजयवर्गीय की हिंसक कार्रवाई को एक अभियान चलाकर उचित ठहराया जा रहा था। जमानत मिलने पर ना केवल जश्न मनाया गया बल्कि दर्जनों नेताओं ने जश्न के फोटो और वीडियो भी सोशल मीडिया पर अपलोड किए परंतु जैसे ही पीएम नरेंद्र मोदी ने सख्त बयान दिया, सोशल मीडिया से सभी नेताओं ने उपरोक्त तमाम फोटो, वीडियो और पोस्ट हटा दिए।