Loading...

KAMAL NATH का भांजा टॉयलेट के बहाने ED से फरार

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय के चंगुल से VVIP हेलीकाप्टर घोटाले में आरोपी रतुल पुरी (RATUL PURI) फरार हो गया। प्रवर्तन निदेशालय ने रतुल को पूछताछ के लिए बुलाया था। ईडी के अधिकारियों ने कहा कि पूछताछ में सहयोग नहीं करने पर गिरफ्तारी होगी। खबरों के अनुसार पूछताछ के दौरान जब रतुल की गिरफ्तारी सुनिश्चित हो गई तो उसने बड़ी चतुराई से टॉयलेट जाने की अनुमति मांगी। ईडी ने बिना सिक्योरिटी गार्ड के रतुल को बाथरुम जाने की इजाजत दे दी। जिसके बाद वो वहां से फरार हो गया। 

रतुल के तलाश में दिल्ली में छापामारी की गई। कनॉट प्लेस के एक होटल में पहुंची। वहां ईडी अधिकारियों को रतुल तो नहीं मिला लेकिन उसकी कार और ड्राइवर मिल गया। बता दें रतुल पुरी हिंदुस्तान पॉवर प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड के अध्यक्ष हैं। पुरी की मां नीता मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री और दिग्गज कांग्रेस नेता कमलनाथ की बहन हैं। अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर घोटाला काफी समय से चर्चा में बना हुआ है। 

फरवरी 2010 में यूपीए सरकार ने ब्रिटिश-इटैलियन कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड के साथ वीवीआईपी हेलिकॉप्टर की खरीद के लिए एक सौदा किया था। इस सौदे के तहत वायुसेना के लिए 12 हेलिकॉप्टर खरीदे जाने थे। सौदे में बिचौलिए की भूमिका निभाने वाले मिशेल को पिछले साल दिसंबर में यूएई से प्रत्यर्पित कर भारत लाया गया। मामले की जांच जारी है। बता दें कि 3600 करोड़ रुपये के वीवीआईपी घोटाला से जुड़े धन शोधन मामले में सरकारी गवाह बने बिचौलिये और दुबई के कारोबारी राजीव सक्सेना द्वारा दर्ज बयान में पुरी का नाम सामने आया था। 

अपडेट: कोर्ट ने 29 जुलाई तक की मोहलत दी
मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी को अगस्ता वेस्टलैंड मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दिल्‍ली की अदालत से शनिवार को राहत मिल गई। रतुल पुरी की याचिका पर दिल्‍ली कोर्ट ने उन्‍हें 29 जुलाई तक गिरफ्तारी से अंतरिम संरक्षण (interim protection) दे दिया है। हालांकि, अदालत ने उन्‍हें आज ही शाम पांच बजे ईडी के दफ्तर में जाकर जांच में सहयोग करने का निर्देश जारी किया है।