Loading...    
   


INDIORE NEWS : ओमेक्स सिटी-2 में कपड़ा कारोबारी के घर लूट, नगदी समेत 20 लाख के जेवर ले गये

इंदौर। बायपास स्थित ओमेक्स सिटी-2 में सोमवार देर रात नकाबपोश बदमाश कपड़ा कारोबारी के घर में घुस गए। कारोबारी, उनकी पत्नी, बेटे और बेटी को पीटा और लाखों रुपए सहित करीब 20 लाख के जेवर लूटकर भाग गए। पुलिस स्थानीय बदमाशों का हाथ मानकर जांच कर रही है।

शिप्रा पुलिस के मुताबिक, वारदात रात एक से दो बजे के बीच की है। टाउनशिप में रहने वाले कृष्णकुमार तुलसीयान (55) का क्लॉथ मार्केट में कपड़े का थोक कारोबार और दलाली का काम है। करीब 12 बजे तक उन्होंने परिवार के साथ टीवी देखी और सभी अपने-अपने कमरों में जाकर सो गए। कुछ देर बाद नकाबपोश बदमाश घर में आ धमके और प्रथम मंजिल पर बने कमरे में घुस गए। चार दराज और एक अलमारी तोड़कर हीराजड़ित सोने का हार और करीब डेढ़ लाख रुपए निकाल लिए।

पांच बदमाश कृष्णकुमार के बेडरूम में आ गए और अलमारी खोलने लगे। जैसे ही उनकी नींद खुली नकाबपोश बदमाश ने लोहे की रॉड उनके सीने पर रख दी। पत्नी मंजू ने शोर मचाया तो उन्हें चांटा मार दिया जिससे मुंह से खून निकलने लगा। कृष्णकुमार ने पत्नी को चुप कर दिया और बदमाशों से कहा मारपीट मत करो। बदमाशों ने अलमारियों की चाबी मांगी। मंजू ने कहा अलमारी खुली है। बदमाशों ने उसमें से भी जेवर और रुपए निकाले और दंपती को बंधक बना लिया।

कृष्णकुमार के बेटे नारायण के मुताबिक, दो बदमाश बहन रानी (31) और भाई पुरुषोत्तम (33) के कमरे में पहुंचे और उन्हें पीटने लगे। उन्होंने मेन स्विच गिराकर पूरे घर की लाइट भी बंद कर दी। पुरुषोत्तम को पीटा तो रानी ने विरोध किया। एक बदमाश ने उसे भी पीटा तो घबरा कर कोने में छिप गई। बदमाशों ने उससे कहा सोने और हीरे की अंगूठियां निकाल दो। रानी ने हाथ पीछे छिपा रखे थे। उन्हें यह पता था कि रानी के पास हीरेजड़ित अंगूठियां हैं।

तीन अंगूठियां छीनी और भाई-बहन को कमरे में ही बंद कर दिया। जब तक कुछ बदमाश ड्राइंग रूम में सो रहे कृष्णकुमार के बेटे बलराम (34) के पास पहुंच गए। उसे लोहे की रॉड, डंडे और पाइप से पीटकर घायल कर दिया। उसके हाथ में फ्रैक्चर हो गया। ऑपरेशन कर रॉड डाली गई है। नारायण ने बताया, वह और भाई कन्हैया ऊपर वाले कमरे में सो रहे थे, जहां बदमाश नहीं गए।

टीआई मोहन जाट के मुताबिक, बदमाश दीवार कूदकर आंगन में घुसे और पीछे की तरफ से किचन का दरवाजा तोड़ दिया। एफएसएल टीम को मौके से चार बदमाशों के पैरों के निशान मिले हैं। तीन बदमाश नंगे पैर थे और एक 10 नंबर का जूता पहने था। पुलिस ने घटना के तत्काल बाद पीड़ित परिवार के बयान लिए तो कहा चार बदमाश आए थे। घर में पड़े वाइपर, लोहे के एंगल से ही हमला किया। बलराम ने एक हाथ पर एंगल झेला तो फ्रैक्चर हो गया। वीडियो रिकॉर्डिंग में उन्होंने करीब 70 हजार रुपए का माल जाना बताया लेकिन बाद में राशि और जेवर ज्यादा बता दिए। पुलिस ने चोरी का केस दर्ज किया है। पीड़ित परिवार के मुताबिक, बदमाश हीरेजड़ित हार, अंगूठियां, चूड़ियां, टॉप्स, नग, चांदी के बर्तन ले गए हैं।

कारोबारी के मुताबिक, उनका डेढ़ महीने पहले एक कपड़ा कारोबारी से विवाद भी हुआ था। कारोबारी ने बताया घटना के बाद बेटे नारायण ने सोसायटी इंचार्ज गिरधारीलाल शर्मा को कॉल किया लेकिन मोबाइल बंद मिला। मेंटेनेंस प्रभारी राहुल को बुलाया तो पुलिस पहुंचने के बाद आया। बाद में उन्होंने परिचित धर्मेंद्र सैनी और श्रवण जैन को कॉल किया और बुलाया। कॉलोनी में गार्ड भी रहते हैं लेकिन किसी ने बदमाशों को नहीं देखा। दो दिन से स्ट्रीट लाइट भी बंद थी। पुलिस राहुल और गार्डों से पूछताछ कर रही है।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here