Loading...

मप्र में तालाबों की रक्षा के लिए जियोग्राफिक इनफार्मेशन सिस्टम शुरू | GEOGRAPHICAL INFORMATION SYSTEM FOR PONDS

भोपाल। मध्यप्रदेश में तालाबों की जमीन पर अतिक्रमण करने या ताबालों के साथ छेड़छाड़ करने वालों के लिए बुरी खबर है। अब ना तो वो तालाब पर अतिक्रमण कर पाएंगे, ना तालाब की जमीन पर खेती और ना ही तालाब ने अपने खेल तक के लिए नहर क्योंकि सरकार ने तालाब की निगरानी के लिए जियोग्राफिकल इनफार्मेशन सिस्टम (GEOGRAPHICAL INFORMATION SYSTEM) तैयार किया है जो तालाब लाइव जानकारी उपलब्ध कराएगा।

प्रदेश में तालाबों के संरक्षण और जल भराव की जानकारी संधारण करने के लिए पर्यावरण नियोजन एवं समन्वय संगठन (एप्को) ने जियोग्राफिकल इनफार्मेशन सिस्टम (जीआईएस) बेस्ड वेब पोर्टल तैयार किया है। यह पोर्टल मध्यप्रदेश एजेन्सी फॉर प्रमोशन ऑफ इन्फॉरमेशन टेक्नोलोजी (मेपआईटी) के सहयोग से तैयार किया गया है।

पोर्टल पर प्रदेश के 2.25 हैक्टयर से अधिक के वेटलैण्ड को शामिल किया गया है। पोर्टल में तालाबों की जानकारी, उनके नाम, नक्शा, ब्लॉक, गाँव, भौगोलिक स्थिति और क्षेत्रफल की जानकारी प्रमुखता से दी गई है। इस जानकारी के होने से तालाबों के संरक्षण और उनके प्रबंधन के कार्य आसानी से किये जा सकेंगे। यह पोर्टल शोधकर्ता समाजसेवी और पर्यावरणविद् के लिये अत्याधिक उपयोगी है। जीआईएस बेस्ड वेब पोर्टल एप्को की वेबसाईट  www. epco.in पर उपलब्ध है।