Loading...

EDUCATION PORTAL MP: कभी एप्लीकेशन बंद हो जाती है, कभी डाटा ही अपलोड नहीं होता

दमोह। एमपी एजुकेशन पोर्टल में तकनीकी समस्याओं के कारण शिक्षक तबादले के लिए आवेदन नहीं कर पा रहे हैं । कभी एप्लीकेशन बंद हो जाती है तो कभी डाटा ही अपलोड नहीं हो पा रहा है । कई शिक्षक ऐसे भी हैं जो चार-पांच दिनों से आवेदन करने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन आज ही जानकारी बनने के बाद सर्वर काम नहीं कर रहा है। 

स्कूल शिक्षा विभाग में तबादले के लिए नई तबादला नीति के तहत 24 जून से आवेदन की प्रक्रिया शुरू की गई है जिसकी अंतिम तिथि 5 जुलाई निर्धारित की गई है। शिक्षकों का कहना है कि स्कूल शिक्षा विभाग में तबादला प्रक्रिया को ऑनलाइन करने के एक दिन बाद से ऑनलाइन एप्लीकेशन में आवेदकों को कई प्रकार की समस्याएं आ रही हैं। 

पोर्टल सरवर सही तरीके से काम नहीं कर रहा है आवेदन के लिए यूनिक आईडी और पासवर्ड डालने पर आईडी तो खुल जाती है लेकिन जानकारी बनने के बाद ना अपडेशन हो रहा है और ना चॉइस  फिलिंग का ऑप्शन आ रहा है। वहीं कुछ शिक्षक पहले प्रयास में ही आवेदन कर पा रहे हैं 1 सप्ताह का समय निकल चुका है और आवेदन के लिए मात्र 4 दिन शेष बचे हैं।

उल्टा डाटा नजर आ रहा है (खाली सीटें ​फुल और भरे पद रिक्त)

शिक्षकों के तबादले के लिए अनेक खामियां भी सामने आ रही हैं। पोर्टल पर हाई स्कूल एवं हायर सेकेंडरी स्कूलों में रिक्त पदों की सूची अपलोड की गई है लेकिन वास्तविकता में इन स्कूलों में पद भरे हुए हैं और जिन स्कूलों में पद खाली हैं वहां पर भरे हुए नजर आ रहे हैं ।अभी तक जिले के सैकड़ों शिक्षक तबादले के लिए स्वैच्छिक आवेदन कर चुके हैं । शिक्षकों का आरोप है कि शिक्षा विभाग द्वारा अनियमितताओं के चलते जिन स्कूलों में पद रिक्त है उन्हें भरा भरा बताया जा रहा है जबकि वहां पर पद खाली पड़े हुए कुछ ऐसा ही उन स्कूलों में भी हो रहा है जहां पद भरे हुए हैं लेकिन रिक्त बता रहे हैं यह सब प्रक्रिया अटैचमेंट के चलते गड़बड़ा गई है।

शहरी क्षेत्र में अतिशेष का जमावड़ा

शहरी क्षेत्र के हाई स्कूल एवं हाई सेकेंडरी स्कूल से लेकर माध्यमिक व प्राइमरी स्कूलों में अतिशेष शिक्षकों का जमावड़ा है ऐसे अनेक शिक्षक हैं जो नियम विरुद्ध तरीके से शहरी क्षेत्र के स्कूलों में पदस्थ हैं जब तक अतिशेष शिक्षकों का समायोजन नहीं होगा तब तक रिक्त पदों पर भरपाई नहीं हो पाएगी शिक्षकों ने भी मांग की है कि पहले अतिशेष शिक्षकों का समायोजन किया जाए इसके बाद रिक्त पदों को अपडेट कर पोर्टल पर अपलोड किया जाए ताकि शिक्षक आवेदन कर सकें।

इनका कहना है 
पोर्टल पर पदों की जानकारी में यदि कुछ विसंगतियां आ रही हैं तो उन्हें देख कर जो भी सुधार होगा कराया जाएगा। 
रवि सिंह बघेल, जिला शिक्षा अधिकारी दमोह