Loading...

ABHAY SINGH IAS के घर से नोटों का भंडार मिला, CBI वाले भी हतप्रभ रह गए

बुलंदशहर। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में डीएम आईएएस अभय सिंह के घर पर सीबीआई ने छापेमारी की है। बताया जा रहा है कि यह छापेमारी उनके ऊपर लगे खनन घोटाले को लेकर की गई है। पिछली सरकार में अभय सिंह फतेहपुर के डीएम थे, इस दौरान उन पर अवैध रूप से खनन करवाने का आरोप लगा था। इस मामले की सीबीआई जांच कर रही है। सूत्रों की मानें तो छापेमारी के दौरान सीबीआई को उनके आवास पर इतने नोट मिले कि उनकी गिनती के लिए सीबीआई ने मशीन मंगवाई। 

नोटों की गड्डियां देखकर CBI अधिकारी भी हैरान रह गए

सीबीआई की टीम सुबह-सुबह डीएम के आवास और कार्यालय पर पहुंची। यहां पर सभी लोगों के आने-जाने पर रोक लगा दी गई। गेट पर फोर्स तैनात कर दी गई। टीम ने लगभग दो घंटे तक आईएएस अभय सिंह के साथ उनके आवास पर बंद करके पूछताछ की। इस दौरान उनके घर की तलाशी की गई।  सूत्रों ने बताया कि तलाशी के दौरान आईएएस के घर से सीबीआई को नोटों की कई गड्डियां मिलीं। इन गड्डियों को गिनवाने के लिए बाद में मशीन मंगवाई गई। लोगों को नोट गिनने वाली मशीन का पता तब चला जब छापेमारी के दौरान एक गाड़ी डीएम के आवास से बाहर गई और कुछ देर बाद वापस लौटी। वापस लौटने के दौरान गाड़ी में लोगों ने नोट गिनने की मशीन देखी। इस बात से अंदाजा लगाया जा रहा है कि आईएएस के घर से काफी नगदी बरामद हुई है। 

अखिलेश सिंह के खास थे अभय सिंह

अभय सिंह समाजवादी पार्टी की अखिलेश यादव सरकार में फतेहपुर के डीएम थे। बताया जा रहा है कि इस दौरान उन्होंने सारे नियमों को ताक पर रखकर मनमाने ढंग से खनन पट्टे किए। हाई कोर्ट की रोक के बावजूद लोगों को अवैध खन की रेवड़ी बांटी गई। वह मूल रूप से प्रतापगढ़ के रहने वाले हैं। उन्हें लगभग पांच महीने पहले ही बुलंदशहर का डीएम बनाया गया था। 

आईएएस बी चंद्रकला भी इसी मामले में फंसी हैं

आपको बता दें कि अवैध खनन मामले में जांच कर रही सीबीआई इससे पहले आईएएस और बुलंदशहर की पूर्व डीएम बी. चंद्रकला से भी पूछताछ कर चुकी है। चंद्रकला पर हमीरपुर डीएम रहने के दौरान मनमाने ढंग से खनन पट्टे करने का आरोप लगा है। उनके खिलाफ भी सीबीआई जांच चल रही है। उनके पास भी अघोषित संपत्तियां मिली थीं।