Loading...

RAJGARH में मोबलिंचिंग के खिलाफ मुस्लिम समाज ने ज्ञापन सौंपा | MP NEWS

अब्दुल वसीम अंसारी/राजगढ़। मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले में आज मुस्लिम समाज के द्वारा रमजान उल मुबारक के अलविदा जुमा की नमाज के बाद देश में लगातार बढ़ रही मोबलीचिंग जैसी अप्रिय घटनाओं पर विराम लगाने हेतु मुस्लिम समाज ने राजगढ़ के कलेक्ट्रेट कार्यालय में राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा।

क्या कहा ज्ञापन में
राजगढ़ शहर के अमन पसन्द बाशिंदे आप से मोदबाना दरखास्त करते है कि हिंदुस्तान के आइन (संविधान) के मुताबिक इस मुल्क का हर बाशिंदा चाहे वो किसी भी मज़हब या ज़ात का हो उसे बराबर के हक़ दिए जाते हैं और अगर कोई भी हिंदुस्तान का बाशिंदा ( नागरिक)  हिन्दूस्तान के कानून की ख़िलाफ़ वर्ज़ी करता है तो क़ानून के मुताबिक सज़ा देने के लिये अदालत बनी हुई है जहां बिना भेदभाव के बिना किसी का धर्म और जाति जाने बिना इंसाफ किया जाता है, 

मगर महामहिम राष्ट्रपति महोदय
पिछले कुछ वक़्त से ऐसा लगने लगा है कि कुछ लोग हिंदुस्तान की गंगा जमनी तहज़ीब और वासुदेव कुटुंब आपसी भाई चारे को बर्बाद करने की कोशिश कर रहे हैं और इस मुल्क के बाशिंदों से उनका मजहब या ज़ात पूछ कर उन पर मुसलसल जुल्म किये जा रहे है और इस मुल्क के क़ानून तोड़ कर खुद क़ानून अपने हाथ मे ले रहे है और उस गैर कानूनी हरकत को धर्म मज़हब से जोड़ कर वीडियो वायरल कर के ये साबित कर रहे है कि उन लोगो के नज़दीक हिंदुस्तान के क़ानून और संविधान की अहमियत कुछ भी नहीं है जिस की सीधी मिसाल धर्म और जाति की आड़ में देश मे मुसलसल हो रहे हमले हैं और अभी कुछ वक्त पहले बेगूसराय सीवनी &  गुरुग्राम में हुवे हादसे हैं जिनमें मुस्लिम लोगो से उनका मजहब पूछ कर ज़ुल्म किया गया 

महामहिम राष्ट्रपति महोदय हम हिंदुस्तान में जो भी मुस्लिम हैं उनके पुरखों ने  बाई चांस इस मुल्क को नही अपनाया बल्कि मुल्क़ की आज़ादी के लिए अपनी जानों की क़ुरबानी देकर बाई च्वाईस इस मुल्क को अपनाया है हम और हमारे बुज़र्ग इसी मुल्क में पैदा हुए और इसी मुल्क की मिट्टी में दफ़न हुवे और हो जाएंगे, हमें फक्र है कि यह मुल्क हिंदुस्तान हमारा था, हमारा है और यकीन है कि हमेशा हमारा रहेगा,

इस मुल्क का संविधान सब के लिये बराबरी का हक़ देता है चाहे वो किसी भी मज़हब या धर्म को मानने वाला हो इस मुल्क का क़ानून सब के लिये बराबर है चाहे वो किसी भी धर्म या मज़हब का मानने वाला हो,

महामहिम राष्ट्रपति महोदय हम लोग निहायत बाअदब आप से गुज़ारिश करते है कि जो लोग इस मुल्क के कानून और संविधान के खिलाफ खुद क़ानून हाथ मे ले कर गैर कानूनी कार्यवाही करते है और देश की गंगा जमुनी तहजीब का मज़ाक उड़ाते हैं और ऐसा करने में अपनी शान समझते हैं तो  आप उन तमाम के ख़िलाफ़ राजद्रोह के मुकदमे दर्ज करवाने का आदेश करें और संविधान के खिलाफ काम करने वाला चाहे वह किस भी मज़हब या जाति का मानने वाला हो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही और जिन लोगो के साथ ज़ुल्म हुआ है उन के साथ क़ानून के मुताबिक इंसाफ़ करवाएं।