Loading...

अप्रत्याशित जीत से हमारे सांसद मानसिक संतुलन खो बैठे हैं: भाजपा विधायक | MP NEWS

भोपाल। मैहर सीट से बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी ने कहा है कि 'अप्रत्याशित जीत से सांसद सतना गणेश सिंह अपना मानसिक संतुलन खो बैठे हैं।' इससे पहले सांसद गणेश सिंह ने सार्वजनिक बयान देकर भाजपा के कुछ नेताओं को धमकी दी थी। सांसद का आरोप था कि कुछ भाजपा नेताओं ने चुनाव में उनके खिलाफ काम किया था। 

सिंह के सार्वजनिक बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए मैहर सीट से बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में लिखी है कि ''अप्रत्याशित जीत से सांसद सतना गणेश सिंह अपना मानसिक संतुलन खो बैठे हैं और वे यह भूल चुके हैं कि मिली जीत उनकी लोकप्रियता नहीं है अपितु यह जीत देश के यशश्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कुशल रणनीतिकार अमित शाह जी की है। यह जीत केवल सतना में नहीं हुई बल्कि पूरे देश में हुई है। 

नारायण त्रिपाठी ने कहा कि ''जीत के जश्न में डूबे सांसद ने नागौद में जिस तरह का उद्बोधन दिया वह अत्यंत निंदनीय है। उसकी जितनी भर्त्सना की जाए कम होगी। साथ ही वे जिस तरह से अपने प्यादों से बयानबाजी करा रहे हैं वह बर्दाश्त करने योग्य नहीं है। 

नागोद की सभा में क्या कहा था सांसद गणेश सिंह ने

नागोद विधानसभा क्षेत्र में धन्यवाद सभा को संबोधित करते हुए, सिंह ने कहा कि “मैं उन सभी को जानता हूं जिन्होंने भाजपा से होने के बावजूद प्रतिद्वंद्वी पार्टी के उम्मीदवार के लिए काम किया है। इसलिए मैं ऐसे कार्यकर्ताओं को स्पष्ट रूप से कह रहा हूं कि मेरे पास गलती से भी न आएं, क्योंकि मैं उनके लिए ऐसे शब्दों का उपयोग कर सकता हूं, जो अच्छा नहीं लगेगा। यदि पार्टी का उम्मीदवार आपकी पसंद का नहीं था, तो आपको घर पर रहना चाहिए और उसके लिए प्रचार नहीं करना चाहिए, बल्कि आपने प्रतिद्वंद्वी पार्टी के उम्मीदवार के लिए खुलकर प्रचार किया।

सांसद के टारगेट पर कौन था

सतना जिले के बीजेपी सूत्रों के अनुसार, सिंह ने रामपुर-बघेलान के विधायक विक्रम सिंह और मैहर के विधायक नरेंद्र त्रिपाठी के अलावा सतना सीट से पूर्व विधायक शंकरलाल तिवारी पर निशाना साधा है। उन्हें लगता है कि जातिगत समीकरणों की वजह से इन नेताओं ने कांग्रेस उम्मीदवार राजाराम त्रिपाठी का समर्थन किया था।