Loading...    
   


सरपंच पति ने पंचायत अधिकारी को बंधक बनाकर पीटा! | JABALPUR NEWS

सिहोरा। राजनीतिक संरक्षण में फल फूल रहे पंचायत स्तर के नेताओं की गुंडागर्दी अपने चरम पर है। जहां महिला सरपंच तो है लेकिन उनके पति ही पंचायत के हर कार्य को अपने देखरेख में कराते हैं जो स्थानीय नेताओं के संरक्षण में ही किसी भी अधिकारी को धमकाने और मारपीट करने से भी नही चूकते है। ऐसा ही मझौली जनपद पंचायत क्षेत्र के ग्रामीण विकास विस्तार अधिकारी को प्रधानमंत्री आवास योजना में स्वीकृत आवासों की जांच निरीक्षण करना महंगा पड़ गया सरपंच एवं सरपंच पति ने ग्रामीण महिलाओं के साथ मिलकर अधिकारी की जमकर मारपीट कर दी।

घटना बुधवार 19 जून की है जब मझौली विकासखंड में पदस्थ अधिकारी रामरतन शुक्ला मझौली पंचायत के डूंडी गांव की करहैया टोला प्रधानमंत्री आवास के निरीक्षण के लिए पहुंचे थे। जहां वर्ष 2018 19 में करीब 18 नए मकान स्वीकृत हुए थे। जिनकी जांच के लिए ग्रामीण विकास विस्तार अधिकारी रामरतन शुक्ला प्रभारी सचिव सुषमा पटेल के साथ मौके पर पहुंचे। तभी सरपंच अनीता पटेल भी मौके पर पहुंच गईं और अधिकारी से मकानों की सूची की मांग की। सूची में सरपंच प्रणाम होने से वे भड़क गई और अधिकारी से पूछताछ करने लगी जिस पर अधिकारी शुक्ला ने बताया कि सूची में आपका नाम नहीं है आप अपात्र हैं। सुनते ही सरपंच अनीता पटेल ने अपने पति बाबूलाल को मौके पर बुला लिया। मौके पर पहुंचा सरपंच पति रोब दिखाते हुए अधिकारी के साथ बदतमीजी करने लगा जब अधिकारी ने इस बात के लिए उसे रोका तो उसने पंचायत भवन में अधिकारी के साथ मारपीट शुरू कर दी साथ ही वहां उपस्थित महिलाओं से भी अधिकारी के साथ मारपीट करा दी और उसे कमरे में बंद कर उसके सारे दस्तावेज छुड़ा लिए। साथ ही दस्तावेजों में शामिल पात्र अपात्र हितग्राहियों की सूची को भी उसने फाड़कर फेंक दिया। 

सिहोरा पुलिस को दी लिखित की शिकायत

घटना के बाद सरपंच पति ने मामले की सूचना सिहोरा पुलिस को दी। जिसमें यह बताया गया कि ग्रामीण विकास विस्तार अधिकारी रामरतन शुक्ला द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत स्वीकृत मकानों के निरीक्षण के दौरान महिलाओं से अभद्रता और छेड़छाड़ करते हुए पाए गए। मामले की सूचना लगते ही मौके पर पुलिस पहुंची और दोनों पक्षों को सिहोरा थाने ले आई जहां सरपंच अनीता पटेल के द्वारा लिखित शिकायत दी गई वही जनपद पंचायत अधिकारी रामरतन शुक्ला ने भी अपने अधीनस्थ कर्मचारियों एवं अनुविभागीय अधिकारी सिहोरा को भी सूचित किया जिसके बाद मामले की जांच की जा रही है।

दोनों पक्षों की शिकायतें मिली दोनों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।मामले की जांच की जाएगी।
भावना मरावी
एसडीओपी सिहोरा


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here