Loading...

INDORE NEWS : पुलिस रेप पीड़िता को टहलाती रही ताकि आरोपी आराम शादी कर सके

इंदौर। पुलिस पर रेप के आरोपी के आरोपी को बचाने और पीड़िता को तंग करने का मामला सामने आया है। कॉल सेंटर (CALL CENTER) में काम करने वाली युवती का आरोप है कि नदीम शाह ने उसे प्यार के झूठे जाल में फंसाकर 8 साल तक शारीरिक संबंध बनाए और फिर किसी अन्य लड़की से शादी कर ली। मामले में पीड़िता समय रहते पुलिस के पास पहुंची परंतु पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया, उल्टा पीड़िता को टहलाती रही ताकि आरोपी आराम से शादी कर सके।

पुलिस ने किस तरह रेप पीड़िता को टहलाया

रविवार रात युवती को जानकारी मिली कि उसका प्रेमी किसी अन्य युवती से शादी करने जा रहा है। रविवार को ही वो नदीम से मिलने गई। सोमवार सुबह पीड़िता थाने पहुंची और केस दर्ज कराया। यहां तक पुलिस एक संवेदनशील भूमिका में रही। पुलिस ने तत्काल केस दर्ज किया लेकिन जैसे ही पीड़िता ने आरोपित को शादी करने के पहले गिरफ्तार करने के लिए कहा। तो पुलिस उसे नियम, प्रक्रिया और कागजी कार्रवाईयों का हवाला देने लगे। बोले प्रक्रिया पूरी करने के बाद ही गिरफ्तारी की जा सकती है। पीड़िता थाने से वापस लौट गई। शाम को पीड़िता दोबारा थाने गई तो पुलिस उसके साथ चलने का तैयार हो गई। घर पहुंचे तो पता चला कि बारात निकल चुकी है। कार्रवाई नहीं हुई तो मंगलवार दोपहर वह कंट्रोल रूम एसएसपी से शिकायत करने पहुंची लेकिन यहां से भी तत्काल कोई मदद नहीं मिली। रेप के आरोपी ने आराम से शादी सम्पन्न की। पुलिस ने शादी से पहले आरोपी को पकड़ने का प्रयास तक नहीं किया।

मामला क्या है
चंदन नगर पुलिस ने सोमवार को 27 वर्षीय युवती की शिकायत पर नदीम (NADEEM SHAH) पिता अनवर शाह (ANVAR SHAH) निवासी ग्रीन पार्क कॉलोनी के खिलाफ केस दर्ज किया है। टीआई राहुल शर्मा ने बताया कि युवती सोमवार सुबह 6.45 बजे शिकायत करने थाने आई थी। मेडिकल परीक्षण के बाद 10 बजे केस दर्ज कर लिया। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि आरोपित से नौ साल पहले पहचान हुई थी। युवती को एक मकान किराए पर चाहिए था। यहां उसने झूठ बताया कि नदीम उसका मंगेतर है। इस झूठ के कारण मकान तो किराए पर मिल गया लेकिन दोनों के बीच लव स्टोरी भी शुरू हो गई। युवती का आरोप है कि नदीम ने उसे शादी के लिए प्रपोज किया और कई बार शारीरिक संबंध बनाए। गर्भवती होने पर उसका गर्भपात भी कराया।

शादी के नाम पर हमेशा टालता रहता था। रविवार को अपनी शादी से 2 दिन पहले आरोपी युवती से मिला और बताया कि उसके चचेरे भाई की शादी है। इसके बाद वह भी शादी करेगा। इसी दिन रविवार रात 12 बजे युवती को पता चला कि शादी उसके भाई की नहीं बल्कि उसी की है। सोमवार सुबह उससे संपर्क किया, लेकिन बात नहीं हो पाई। इसके बाद वह शिकायत करने थाने गई।

पुलिस ने मामला तो दर्ज किया लेकिन गिरफ्तारी नहीं की

रिपोर्ट करने के बाद युवती ने जांच अधिकारी घनश्याम सिंह भदौरिया को आरोपित के शादी करने के पहले गिरफ्तार करने को कहा, जिससे उसकी शादी टूट जाए लेकिन जांच अधिकारी ने उसे कहा कि अभी तो उसने रिपोर्ट की है। कागजी कार्रवाई के बाद गिरफ्तार करेंगे। इस पर वह घर लौट गई। शाम 5 बजे वह दोबारा थाने गई और आरोपित को गिरफ्तार करने के लिए कहा। पुलिसकर्मियों के साथ वह आरोपित के घर पहुंची। यहां पता चला कि आरोपित की बरात निकल चुकी है। इस पर वह लौट आई। मंगलवार को कंट्रोल रूम में अधिकारियों से मिली और पुलिस की शिकायत की। आरोपित के घर मंगलवार को रिसेप्शन है। इस पर महिला अधिकारी ने टीआई को फोन लगाकर आरोपित को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए।