Loading...

GWALIOR NEWS: आईजी ने माना: पुलिस ने वसूली के लिए प्राइवेट आदमी लगा रखे हैं

ग्वालियर। आईजी पुलिस राजाबाबू सिंह ने स्वीकार किया है कि पुलिस अवैध वसूली करती है। पुलिस ने अवैध वसूली के लिए प्राइवेट आदमी लगा रखे हैं। उन्होंने कहा कि हम इस पर नजर बनाए हुए हैं। लगातार रोक लगा रहे हैं। पिछले दिनों में कार्रवाई भी की गई है। 

आईजी राजाबाबू सिंह ने कहा कि ग्वालियर जोन में कई थानों में पुलिस मुख्यालय की गाइड लाइन के हिसाब से सब इंस्पेक्टर की पदस्थापना न होने पर बोले की स्टाफ की कमी तो है कि साथ ही कहा कि सब इंस्पेक्टर थाने के लिए सक्षम ही नहीं है तो ऐसी जगह पर इससे नीचे स्तर के अमले से भी काम लिया जाता है। इससे पहले शहर की सुरक्षा के लिए लगे कैमरों के कंट्रोल रूम का आईजी ग्वालियर जोन रामबाबू सिंह ने निरीक्षण किया, इस दौरान उन्होंने एसaपी राहुल कुमार लोढ़ा से पूछा कि बताएं इस सिस्टम से क्या सफलता मिली? इस पर एसपी ने बताया कि सबसे बड़ी सफलता एक बुजुर्ग महिला की हत्या में मिली। 

पंजाबी मोहल्ला में हुए बत्रा हत्या कांड का आरोपी इन्हीं कैमरे से मदद से पकड़ा गया। वहीं अब तक कैमरे के माध्यम से 6 बाइक चोर गिरोह पकड़े जा चुके हैं। इसके अलावा यह भी बताया कि बजरंगगढ़ में शराब की दुकान पर लगे सीसीटीवी कैमरे की मदद से हमने गैर इरादतन हत्या के केस का खुलासा किया। सीसीटीवी कैमरे के कंट्रोल रूम में स्क्रीन पर उन्होंने शहर को भी देखा। इस दौरान एक जगह पर लोग निकलते हुए ट्रैफिक नियम तोड़ रहे थे, इस पर आईजी ने तत्काल कहा कि इस पाइंट पर ट्रैफिक पुलिस तैनात करें। इसके अलावा उन्होंने पुलिस की समस्या सुनने के लिए दरबार भी लगाया।

आईजी के पास कई लोग अपनी समस्या लेकर भी पहुंचे। इस दौरान सिरसी थाना क्षेत्र में 6 जून को मिले राम सिंह का कंकाल मामला भी उठाया गया। आईजी को मृतक के भाई ने बताया सिरसी सब इंस्पेक्टर और उसके ड्राइवर ने यह हत्या की है। उन पर कार्रवाई की जाए। गौरतलब है कि इस मामले में कार्रवाई में लापरवाही बरतने के मामले में एसपी राहुल कुमार लोढ़ा ने पहले ही थाना प्रभारी को वहां से हटा दिया था। वहीं बजरंगगढ़ के ग्राम चुराई के चौकीदार बृजमोहन भी आईजी से मिले, उन्होंने बताया कि शासकीय जमीन से दबंगों ने खड़ी फसल काट ली थी, इस मामले में प्रकरण दर्ज किया गया था, लेकिन आरोपियों से फसल और हार्वेस्टर तक जब्त नहीं किया गया है। इसके अलावा जगह-जगह पौधरोपण किया गया।