Loading...

GUNA में निपाह वायरस का खतरा, हजारों चमगादड़ों की मौत | MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश के गुना जिले में निपाह वायरस की दहशत पसर गई है। गुना जिले में विजयपुर थाना क्षेत्र के नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड (NFL) परिसर में हजारों चमगादड़ों की अचानक मौत हो गई। इस घटना से हड़कंप मच गया। पूरी की पूरी प्रशासनिक मशीनरी घटनास्थल पर पहुंच गई। मृत पड़े चमगादड़ों की बारीकी से जांच शुरू कर दी गई है। हाल में केरल में निपाह वायरस को लेकर जारी किए गए अलर्ट से जोड़कर लोग इस घटना को देख रहे हैं और इस कारण डरे हुए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है। 

निपाह वायरस के कारण 48 घंटे के अंदर मरीज कोमा में जा सकता है

मामला इसलिए भी ज्यादा गंभीर हो गया है, क्योंकि, हाल ही में निपाह वायरस को लेकर केरल में अलर्ट जारी किया गया था। डॉक्टरों के अनुसार निपाह वायरस बहुत तेज़ी से असर करता है। यदि मरीज को तुरंत इलाज नहीं मिले तो 48 घंटे के अंदर मरीज कोमा में जा सकता है। इस वायरस की वैक्सीन भी फिलहाल विकसित नहीं हो पाई है। चमगादड़ों की मौत पर NFL प्रबंधन कुछ भी बोलने से बच रहा है। वहीं मुख्य स्वास्थ्य चिकित्सा अधिकारी मामले की गंभीरता को बखूबी समझ रहे हैं।

एक अनुमान: हीट स्ट्रोक या डिहाइड्रेशन से भी मौत हो सकती है

वेटनरी डॉक्टर बीएस धाकरे ने कहा कि पिछले 8 से 10 दिनों के अंदर हजार से डेढ़ हजार की संख्या में चमगादड़ों की मौत हुई है। उन्होंने कहा कि वह खुद अपनी टीम के साथ घटनास्थल पर जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि घटनास्थल से सैंपल ले लिए गए हैं और जांच के लिए भोपाल भेज दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रथम दृष्ट्या ऐसा लगता है कि पिछले दिनों तापमान में वृद्धि होने के कारण डिहाइड्रेशन से या फिर हीट स्ट्रोक से चमगादड़ों की मौत हो गई। वहीं गुना के CMHO पीएस बुनकर ने कहा कि केरल में निपाह वायरस के कुछ केस मिले हैं। इसलिए यहां भी अलर्ट जारी किया गया है। हालांकि उन्होंने यह भी साफ तौर पर कहा कि यहां निपाह वायरस का कोई प्रकोप नहीं है।