Loading...

GREEN RAY INTERNATIONAL: मप्र और ओडिशा से 2 गिरफ्तार

कोरबा। तीन वर्ष से फरार चल रहे दो कथित चिटफंड कंपनी ग्रीन रे इंटरनेशनल के डायरेक्टरों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। एक को मध्यप्रदेश के सिंगरौली व दूसरे को ओडिशा के बालासौर से पकड़ा गया है। आरोपितों ने नेटवर्क का जाल फैलाकर सैकड़ों लोगों को चूना लगाया। अकेले ग्रीन रे इंटरनेशनल कंपनी ने जिले के अल्पसंख्यक समुदाय के 30 लोगों से 20 करोड़ रुपये जमा कराया था।

पुलिस ने चिटफंड कंपनी ग्रीन रे इंटरनेशनल के मैनेजर अभिमन्यु को गिरफ्तार किया है। घंटाघर स्थित कॉम्प्लेक्स के पास कंपनी का दफ्तर था। कंपनी में अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को झांसे में लेकर रकम जमा कराए थे, जिसके बाद रातों-रात कंपनी के डायरेक्टर व अन्य कर्मचारी फरार हो गए थे। डायरेक्टर सहित अन्य के खिलाफ लगभग चार साल पहले केस दर्ज किया गया था। इस मामले में मौलाना वल्लीमुल्लाह ने रामपुर चौकी पहुंचकर डायरेक्टर के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। कंपनी ने कई मौलवी व मौलाना को रकम दोगुना करने का झांसा दिया। उन्हें कहा गया कि यह शरियत के मुताबिक है। 

मुस्लिम समाज में ब्याज में पैसे लगाने को गुनाह माना जाता है, लेकिन ग्रीन रे के डायरेक्टर व अन्य कर्मचारियों ने मोटी रकम लेने के चक्कर में अल्पसंख्यक समुदाय के मौलवी को ही झांसे में ले लिया। सभी ने करोड़ों रुपये कंपनी में जमा करा दिए। इस बीच वह पैसे लेकर फरार हो गए। आरोपितों के खिलाफ पुलिस ने धोखाधड़ी व अन्य धाराओं के तहत मामला पंजीबद्ध किया था। इस मामले के कुछ आरोपित पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिए थे, लेकिन डायरेक्टर फरार था। ग्रीन रे के डायरेक्टर अभिमन्यु सेट्ठी पिता अरुण सेट्ठी (33) ओडिशा के बालासौर से गिरफ्तार किया गया है। इसके लिए पुलिस की एक टीम ओडिशा गई हुई थी। इसी तरह सर्वमंगला प्रॉपटी इंडिया लिमिटेड के डायरेक्टर के खिलाफ धोखाधड़ी तथा अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था। आरोपित रामाधार प्रजापति पिता गोपाल प्रजापति (45) को मध्यप्रदेश के जिला सिंगरौली से गिरफ्तार किया है।

जमीन नीलाम कर पीड़ितों को लौटाएंगे राशि
कंपनी के नाम से 10 करोड़ की जमीन खरीदी गई है। कोरबा कलेक्टर के माध्यम से उक्त जमीन को कुर्की के लिए निर्देशित किया गया है, जिसकी कार्रवाई विधि के अनुरूप चल रही है। दोनों प्रकरण में हजारों निवेशकों से करीब 20 करोड़ की राशि ली गई थी। सभी को लोकलुभावन व दोगुनी-तिगुनी राशि का प्रलोभन देकर धोखाधड़ी की गई थी। संपत्ति से निवेशकों को जमा धन पूंजी शासन से वापस दिलाने की प्रक्रिया की जा रही है।

चल रहे थे कई दफ्तर
जिले में ऐसी कंपनियों की एक समय बाढ़ सी आ गई थी। लोगों को विश्वास में रख उनकी गाढ़ी कमाई लूटने के लिए बकायदा दफ्तर बनाया गया था। बाद में जब एक के बाद एक मामले थाने में दर्ज कराए गए, तब जाकर पूरे मामले से पर्दा उठा। गाढ़ी कमाई जमा करने वाले लोगों के पैरों तले जमीन खिसक गई। हालांकि डायरेक्टरों के गिरफ्तार होने से ऐसी कंपनियों पर अंकुश लगेगा।

Directors of GREEN RAY INTERNATIONAL LIMITED

01292803 AYUB SAHA Director 22 December 2004
01292832 KHALIK SAHA Director 22 December 2004
01292858 MIR SHAHIRUDDIN Managing Director 22 December 2004
01611887 MIR TAHIRUDDIN Director 20 September 2007