Loading...

SHAJAPUR और DHAR में बीमार कर्मचारियों को चुनाव ड्यूटी पर भेजा, दोनों की मौत | MP NEWS

भोपाल। चुनाव ड्यूटी के दौरान शाजापुर में पीठासीन अधिकारी अनिल नेमा एवं धार में मतदान कर्मचारी की मौत हो गई। दोनों बीमार थे बावजूद इसके उन्हे चुनाव ड्यूटी में भेज दिया गया था। 

जानकारी मिली है कि शाजापुर जिले के मक्सी के पोलिंग नंबर 262 पर तैनात किए गए पीठासीन अधिकारी अनिल नेमा सहायक शिक्षक निवासी शुजालपुर को मतदान से पूर्व ही रात में हार्ट अटैक आ गया जिन्हें इलाज के लिए मक्सी के अस्पताल में रेफर किया गया यहां डॉक्टरों ने उन्हे मृत घोषित कर दिया। मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वी एल कांताराव ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि मतदान के दौरान धार में भी एक मतदान कर्मचारी की मौत हो गई है।

धार में बीएलओ मारूसिंह चौगड़ की मौत

धार जिले में लोकसभा निर्वाचन-2019 में विधानसभा क्षेत्र कुक्षी के मतदान केन्द्र क्रमांक-170 प्राथमिक विद्यालय जलवट में नियुक्त बीएलओ श्री मारूसिंह चौगड़ की आज ड्यूटी के दौरान स्वास्थ्य खराब होने पर बड़वानी के साईंबाबा हॉस्पिटल में उपचार के दौरान मृत्यु हो गई। प्रारंभिक तौर पर मृत्यु का कारण हार्ट अटैक माना गया है।

अब तक आधा दर्जन से ज्यादा कर्मचारियों की मौत

चुनाव ड्यूटी के दौरान अब तक आधा दर्जन से ज्यादा बीमार कर्मचारियों की मौत हो चुकी है। सभी बीमार कर्मचारियों को उनकी मर्जी के बिना सस्पेंड करने की धमकी देकर ड्यूटी पर लगाया गया था। इसके अलावा चुनाव ड्यूटी के नाम पर प्रताड़ना से तंग आकर जबलपुर में होमगार्ड एएसआई दुलीचंद कोटीकार ने आत्महत्या कर ली थी।