Loading...

RRDA का अधिकारी: दहेज एक्ट के बदले ब्लैकमेलिंग का मामला दर्ज कराया | MP NEWS

भोपाल। ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण के लेखाधिकारी वरुण बडेरिया 33 वर्ष ने भोपाल में अपनी पत्नी गरिमा गुप्ता, ससुर अनूप गुप्ता और ताऊ ससुर सुरेश गुप्ता के खिलाफ ब्लैकमेलिंग का केस दर्ज कराया है। आरोप लगाया है कि उसकी पत्नी घर से 3 लाख के गहने लेकर चली गई। जब जब जेवर लौटाने के लिए कहा तो ससुर ने उन्हें फोन पर धमकी दे डाली। बोले डेढ़ करोड़ दो तो विवाद खत्म कर देंगे। इससे पहले झांसी में लेखाधिकारी वरुण बडेरिया, रामगोपाल बडेरिया, डॉ. सुशील रूसिया, ऊषा बडेरिया एवं श्वेता गुप्ता के खिलाफ दहेज एक्ट का मामला दर्ज किया गया है। 

भोपाल में दर्ज मामले की कहानी

ब्लू स्काई हाईराइज, आकृति ईको सिटी में रहने वाले 33 वर्षीय वरुण बडेरिया ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण में लेखाधिकारी हैं। शाहपुरा पुलिस थाने में दर्ज शिकायत के अनुसार 6 मई 2017 को उनकी झांसी निवासी अनूप गुप्ता की बेटी से शादी हुई है। पति-पत्नी के बीच अनबन चल रही है। 21 अगस्त 18 को रक्षाबंधन का कहकर पत्नी झांसी स्थित मायके चली गई। साथ में सोने का हार, सोने की चार चूड़ी, हीरे की एक अंगूठी व अन्य जेवर भी ले गई। वरुण दो-तीन बार पत्नी साथ लाने के लिए झांसी गए, लेकिन ससुर व ताऊ ससुर सुरेश गुप्ता ने साथ नहीं भेजा। जेवर लौटाने की बात पर भी वे इनकार करते रहे। तीन मई और 20 मई को वरुण को ससुराल पक्ष से कॉल आए। उन्हें धमकाते हुए कहा गया कि डेढ़ करोड़ दोगे तो विवाद खत्म कर देंगे। इसके बाद वरुण ने इसकी शिकायत शाहपुरा पुलिस से की थी। पुलिस ने फिलहाल केस दर्ज कर लिया है। 

4 दिन पहले झांसी में दर्ज हुआ दहेज एक्ट

झासी से आ रही खबर के अनुसार झोकनबाग के पास रहने वाली गरिमा गुप्ता ने थाना नवाबाद में मु़कदमा दर्ज कराते हुए बताया कि उसकी शादी शिवपुरी (मध्य प्रदेश) के रामाश्रय भवन महल कॉलोनी निवासी वरुण बडेरिया से 5 मई 17 को हुई। वरुण इस समय रायसेन में मध्य प्रदेश ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण में लेखाधिकारी है। शादी में उसके पिता ने कार के साथ दान-दहेज में 50 लाख रुपए खर्च किए थे। कुछ दिनों बाद ससुरालीजन दहेज में डेढ़ करोड़ का फ्लैट भोपाल में देने की माँग करने लगे। आरोप लगाया कि पति शराब पीकर आने लगा और गाली-गलौज कर मारपीट करने लगा। इसके बाद उसके पिता ने भोपाल में एक फ्लैट किराए पर दिला दिया। लगभग एक साल तक वहाँ पर रहने के बाद ससुरालजनों ने बहना बनाकर उसे मायके में छोड़ दिया। धमकी दी है कि जब तक भोपाल में फ्लैट दिलाने के रुपए लेकर आओ, नहीं तो यहाँ आने की जरूरत नहीं है। पुलिस ने आरोपी वरुण बडेरिया, रामगोपाल बडेरिया, डॉ. सुशील रूसिया, ऊषा बडेरिया, श्वेता गुप्ता के विरुद्ध मु़कदमा दर्ज कर लिया है।