Loading...

हुआ तो हुआ: राहुल ने अपने ही पित्रोदा को भरे मंच लताड़ा | NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। 1984 के सिख दंगों को लेकर नया बवाल खड़ा कर चुके कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा को लेकर राहुल गांधी का बयान आया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने सोमवार को लुधियाना में चुनवी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि पित्रोदा को उनके बयान के लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए।

पित्रोदा को सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए

पंजाब के खन्ना में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने 1984 सिख विरोधी दंगों का मामला उठाया। उन्होंने इस मामले पर सैम पित्रोदा द्वारा की गई टिप्पणी को शर्मनाक बताया। उन्‍होंने कहा, पित्रोदा ने 1984 के दंगे पर जो कुछ कहा वह गलत था। मैंने फोन कर उनको कहा कि आपको ऐसी टिप्पणी पर शर्म आनी चाहिए। आपको अपनी टिप्पणी के लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए।

पित्रोदा के कारण बैकफुट पर कांग्रेस

बता दें कि पित्रोदा द्वारा सिख विरोधी दंगों को लेकर दिए बयान के बाद से ही कांग्रेस और पित्रोदा भाजपा के निशाने पर हैं। पीएम मोदी व अन्य विरोधी दल पित्रोदा के बयान पर कांग्रेस को लगातार घेर रहे थे।

नोट बंदी की लाइन में चोर क्यों नहीं थे

वहीं राहुल गांधी को अब इस मामले में सार्वजिनिक रूप से बयान देना पड़ा है। राहुल ने मोदी सरकार द्वारा की गई नोटबंदी पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर नोटबंदी कालेधन के खिलाफ लड़ाई थी, तो बैंक की लाइनों में ईमानदार लोग, युवा, महिला, किसान क्यों खड़े थे? उन लाइनों में चोर क्यों नहीं थे?