Loading...

सजधज कर तैयार हो गया मप्र का सीएम हाउस, पढ़िए क्या कुछ बदल गया | MP NEWS

भोपाल। 110 साल पुराना मध्यप्रदेश का सीएम हाउस 4 माह लम्बे चले रेनोवेशन के बाद अब नए मुख्यमंत्री कमलनाथ के स्वागत के लिए तैयार हो चुका है। अंदर से अब इसका एक हिस्सा कार्पोरेट कंपनी जैसा लक्झरी लुक लिए हुए है तो दूसरा किसी शहशांह के दीवाने ए खास की तरह नजर आ रहा है। 

110 साल पुराना यह हेरिटेज भवन कई जगह से कमजोर हो गया था। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 13 साल रहने के बाद सीएम हाउस को जब खाली किया तब लोक निर्माण विभाग ने उसे कमजोर और खतरनाक बता दिया था। दिल्ली के वास्तुविद की देखरेख में भवन की मरम्मत चल रही है। जून के दूसरे सप्ताह तक काम पूरा हो जाएगा। मुख्यमंत्री कमलनाथ फिलहाल सांसद के नाते उन्हें आवंटित आवास में रह रहे हैं।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री का शासकीय आवास राजधानी के श्यामला हिल्स की खूबसूरत वादियों में स्थित है। अंग्रेजों के जमाने में निर्मित इस हेरिटेज भवन की लोकेशन देखते ही बनती है। भवन के कमरों में से बड़े तालाब का दृश्य नजर आता है। हालांकि 110 साल पुराना भवन जर्जर हो गया था।

करीब तीन महीने से चल रहा मरम्मत और नई साज-सज्जा का काम लगभग पूरा हो चुका है। विभागीय सूत्रों का कहना है कि मुख्य काम हो चुका है, अब थोड़ी बहुत फिनिशिंग बची है। इसके बाद विभाग की ओर से भवन की चाबी मुख्यमंत्री को सौंप दी जाएगी। उसके बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ इसमें गृह प्रवेश का कार्यक्रम बनाएंगे।

पहली मंजिल पर दस कमरे 
सीएम हाउस में मरम्मत के साथ मुख्यमंत्री कमलनाथ के परिवार की जरूरत के मुताबिक बदलाव और नई साज-सज्जा की जा रही है। भवन की पहली मंजिल पर करीब दस कमरे हैं। इनमें लाइब्रेरी, पूजा घर, स्टोर, डाइनिंग व ड्राइंग भी हैं। मेहमानों के लिए भी दो कमरे हैं।

मुख्य शयन कक्ष की छत में लगी बल्लियां और फर्शियां टूटने लगी थीं। निरीक्षण के दौरान इंजीनियरों ने इनके ऊपर लगी फाल्स सीलिंग हटाकर जब देखा तो लकड़ी की बल्लियों में दीमक लग गई थी और उन पर लगी फर्शियां भी कमजोर पाई गईं थीं। पुरानी खिड़कियां, कमरों की टाइल्स और एयर कंडीशन के पाइप आदि बदलकर लेट-बाथ को भी नया रूप दिया गया है। 

13 साल रहे शिवराज
पूर्व मुख्यमंत्री इस भवन में 13 साल रहे। उन्होंने इसे 21 दिसंबर को खाली किया था। उसके बाद ही जांच के दौरान भवन की कमजोरी का खुलासा हुआ। विभागीय सूत्रों का दावा है कि मरम्मत के बाद अगले 25 साल तक मजबूती को लेकर चिंता की कोई बात नहीं है। मुख्यमंत्री कमलनाथ अभी सीएम हाउस के नजदीक ही अपने पुराने शासकीय आवास में रह रहे हैं, यह बंगला उन्हें सांसद के नाते आवंटित था। 

मरम्मत का काम पूरा
सीएम हाउस का भवन 110 पुराना होने से कई जगह कमजोर हो गया था। उसकी मरम्मत और साज-सज्जा का काम पूरा हो चुका है। अब मजबूती को लेकर कोई दिक्कत नहीं। विभाग जून के दूसरे सप्ताह में भवन की चाबी सौंप देगा।
- आरके मेहरा, प्रमुख अभियंता लोक निर्माण विभाग मप्र