Loading...

DEO ने प्रमोशन रोका, बोला मुझे खुश करो नहीं तो नौकरी भी नहीं करने दूंगा | EMPLOYEE NEWS

जयपुर। राजस्थान सरकार के शिक्षा विभाग में एक अधिकारी द्वारा प्रमोशन के लिए महिला कर्मचारी से अस्मत मांगने (SEXUAL HARASSMENT AT WORKPLACE INDIA) का मामला सामने आया है। मामला प्रदेश के जालौर जिले का है। प्रमोशन के बदले अस्मत मांगने वाले जिला शिक्षा अधिकारी (प्रारंभिक) प्रेमशंकर झा और समग्र शिक्षा विभाग के अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक मोहनलाल के खिलाफ एक महिला कर्मचारी ने छेड़छाड़ व अस्मत मांगने का मुकदमा दर्ज कराया है।

महिला कर्मचारी ने बताया कि जब दोनों अधिकारियों ने उससे छेड़छाड़ करनी चाही तो उसने इसका विरोध किया। विरोध किया तो उसे निलंबित कर मुख्यालय भीनमाल कर दिया। इससे परेशान महिला ने दोनों के विरुद्ध जालौर के महिला पुलिस थाने में मामला दर्ज करवाया है। मामला दर्ज होने के बाद महिला पुलिस थानाधिकारी ने जांच शुरू कर दी है। मामला दर्ज होने के बाद दोनों अधिकारी गायब हो गए। पुलिस अब दोनों की तलाश में जुटी हुई है।

पुलिस ने जांच शुरू की

पुलिस में दर्ज करवाई शिकायत में महिला कर्मचारी ने बताया कि वह समग्र शिक्षा अभियान में कार्यरत है। उसका प्रमोशन काफी समय से रूका हुआ था। पिछले डेढ़ महीने से मोहनलाल और प्रेमशंकर झा मानसिक व शारीरिक रूप से परेशान कर रहे थे। करीब डेढ़ महीने पहले ऑफिस के सभी कर्मचारी टूर पर थे, तब मोहनलाल ने उसे उनके ऑफिस में बुलाया और उसके बालों एवं सुंदरता की तारीफ की। इस पर उसने कोई जवाब नहीं दिया। दो दिन बाद मोहनलाल ने पुन: उनके ऑफिस में बुलाया और अंदर जाते ही उसे पकड़ लिया। महिला ने विरोध किया तो सॉरी कहते हुए सामने वाली कुर्सी पर बैठाकर नाराज नहीं होने का कहा। इस पर वह चली गई। उसके तीन-चार दिन बाद प्रेमशंकर झा ने ऑफिस में बुलाकर और अश्लील हरकत की। एक दिन दोनों अधिकारियों ने शाम करीब साढ़े पांच बजे उसे अर्जेंट काम का कहकर कार्यालय बुलाया।

स्टाफ के जाने के बाद उसे पकड़ लिया और गलत हरकतें करने लगे। किसी प्रकार से दोनों के चंगुल से छुड़ाकर भागी और अपने घर आ गई। वह मानसिक रूप से परेशान रहने लगी। दूसरे दिन ऑफिस में कुछ ही देरी से पहुंची तो उसके आधे दिन का अवकाश लगा दिया। इस दौरान मोहनलाल ने उसके पास आकर कहा कि कल की बात को ज्यादा बढ़ाना मत, अन्यथा तुम्हारी नौकरी खतरे में पड़ जाएगी। साथ ही, कहा कि प्रेमशंकर झा से माफी मांग लो। माफी मांगने के लिए शाम को ऑफिस में गई तो छह बजे तक इंतजार करवाया और फिर पकड़कर अश्लील हरकतें करने लगे।

झा ने महिला कर्मचारी से कहा कि यदि मुझे खुश कर दोगी तो तुम्हारा रुका हुआ प्रमोशन कर दूंगा। उस दौरान भी वह चंगुल से छूटकर भाग गई और जोधपुर रह रहे पति को फोन पर दोनों अधिकारियों की इस हरकत के बारे में बता दिया। पति की सलाह पर दो दिन पहले महिला कर्मचारी ने पुलिस में मामला दर्ज कराया है। जालौर महिला पुलिस थाने की थाना अधिकारी निर्मल कंवर ने बताया कि मामले की जांच शुरू कर दी गई है।