Loading...

CHHINDWARA में अतिथि शिक्षकों ने मुख्यमंत्री कमलनाथ के नाम सौंपा ज्ञापन | MP NEWS

छिंदवाड़ा। जिला मुख्यालय पर संयुक्त अतिथि शिक्षक संघ जिला छिंदवाड़ा के तत्वाधान में अतिथि शिक्षकों की समस्याओं को लेकर जिला संघ ने प्रदेश के मुखिया कमलनाथ के नाम जिला कलेक्टर महोदय और जिला शिक्षा अधिकारी महोदय को ज्ञापन सौप अपनी विभिन्न समस्याओं से अवगत कराया। 

इस अवसर पर संघ के जिला अध्यक्ष संतोष कहार ने बताया कि वर्तमान परिस्तिथि में जो पीड़ा अतिथि शिक्षक इस भीषण गर्मी नोतपा में विभिन्न शासकीय स्कूलों में ऑनलाइन अनुभव प्रमाण पत्र के लिए बार बार चक्कर लगा रहे है यह कोई परीक्षा से कम नही छिंदवाड़ा जिला ही नही पूरे प्रदेश में अतिथि शिक्षक बिभिन्न दस्तावेजो को लेकर बहुत परेसान ओर चिंतित हो रहा है और भटक रहा है अंतिम तिथि 31 मई है जिससे बहुत से अतिथि शिक्षकों के भविष्य के साथ अन्याय है अतः अंतिम तारीख 31 मई है जिसे बढ़ाकर 15 जून किया जाए। 

जिससे किसी भी अतिथि शिक्षक का भविष्य खराब न हो सके इस प्रकार आज जिला संगठन के द्वारा जिलाध्यक्ष महोदय जिला छिंदवाड़ा को संयुक्त मध्यप्रदेश  अतिथि शिक्षक संघ ने अनुभव प्रमाण पत्र बनाने की अंतिम तिथि 31 मई से बढ़ाकर 15 जून करने एवम् अनुभव प्रमाण से सम्बंधित अन्य सभी समस्याओं का निराकरण करने हेतू मध्यप्रदेश शासन लोक शिक्षण सञ्चनालय भोपाल के आदेशानुसार अनुभव प्रमाण पत्र बनाने की प्रक्रिया चल रही है जिसकी अंतिम तिथि 31 मई रखी गई है। किन्तु इस समय यह समय सीमा के अंदर छिंदवाड़ा जिले सहित मध्यप्रदेश के अन्य जिलों में भी यह प्रक्रिया पूर्ण नही हो पा रही है क्योंकि उक्त प्रक्रिया के संबन्ध में मध्यप्रदेश शासन द्वारा आदेश छुट्टियों के दौरान किये गए है। 

ओर बहुत से संस्था प्रमुख ओर प्राचार्य छुट्टी होने के कारण नही पहुँच रहे है जिसके कारण अधिकांश संस्था प्रमुख/प्राचार्य/संकुल प्राचार्यो के द्वारा अतिथि शिक्षकों की उपस्थिति का सत्यापन कार्य समय सीमा में पूर्ण नही किया जा रहा है। साथ ही अतिथि शिक्षकों के समक्ष अनुभव प्रमाण पत्र से संबंधित कई प्रकार की समस्यायें बनी हुई है जिसके कारण मध्यप्रदेश का लाचार, मजबूर, बेबस  अतिथि शिक्षक दर-दर की ठोकरें खाते हुए अनुभव प्रमाण पत्र के लिये भटक रहा है। जिसके चलते अतिथि शिक्षकों की ऑनलाइन प्रक्रिया में बहुत सी गलतियां भी आ रही है जिसे भी सुधार कराना अतिआवश्यक है। 

इस संबंध में अतिथि शिक्षकों की समस्याओं के निराकरण करने हेतु संघठन की ओर से निम्न मांगो को रखा गया है जिसमे मुख्य माँग:-
1. अतिथि शिक्षकों के अनुभव प्रमाण पत्र बनाने की अंतिम तिथि 31 मई से बढ़ाकर 15 जून  किया जाये।तिथि में जल्द से जल्द परिवर्तन के आदेश किये जायें।

2.लोक शिक्षण सञ्चनालय मध्यप्रदेश भोपाल द्वारा इस सबंध में पुनः ऐसा आदेश जारी किया जाये जिसमें सत्र 2007-2008 से लेकर वर्तमान सत्र 2018-2019 तक कार्यरत  समस्त अतिथि शिक्षकों के अनुभव प्रमाण पत्र बनाकर देने की सम्पूर्ण जबाबदारी संबंधित संस्था प्रमुख और संकुल प्राचार्य की होना चाहिये।इस कार्य से जिले व प्रदेश का एक भी अतिथि शिक्षक वंचित नही रहना चाहिए।

3.अतिथि शिक्षकों की उपस्थिति का सत्यापन करने के लिए मांगे जाने वाले सभी आवश्यक दस्तावेजो को जो विधालय से मिलेंगे जैसे प्रस्ताव पंजी/ उपस्थिति पंजी/ मानदेय पत्रक/चैक / टाइम टेबिल इत्यादि संबंधित समस्त दस्तावेजो को संस्था प्रमुख/प्राचार्यों के  द्वारा ही संकुल केंद्रों में सत्यापन हेतु बुलाया जाये।इसके लिए किसी भी प्रकार से अतिथि शिक्षकों को परेसान या प्रताड़ित न किया जाये।

4.अतिथि शिक्षकों की पोर्टल पर दर्ज गलत जानकारी नाम की स्पेलिंग/सरनेम की स्पेलिंग/माता का नाम/पिता का नाम/जन्म तिथि इत्यादि में सुधार कार्य किया जाये। एवं मानदेय पत्रक पोर्टल पर दिनों में सुधार किया जाए।

5.जिन अतिथि शिक्षकों की जानकारी पोर्टल पर दर्ज नही है ऐसे अतिथि शिक्षकों को संस्था प्रमुख के पास उपस्थिति पंजी/प्रस्ताव पंजी/चैक इत्यादि जो भी प्रमाणित प्रति हो  उसे सत्यापन कर प्रत्येक सत्र का अनुभव प्रमाण पत्र बनाकर उन्हें प्रदान किया जाये। तथा संस्था प्रमुख/प्राचार्य द्वारा की जाने वाली कार्यवाही की एक प्रति संकुल प्राचार्य द्वारा हस्ताक्षरित संबंधित अतिथि शिक्षक को निः शुल्क प्रदान किया जावे।यदि प्रदेश का एक भी अतिथि शिक्षक अनुभव प्रमाण पत्र से वंचित रहता है और हमारी पाँच सूत्रीय मांगों का निराकरण नही होंता है तो 10 जून के पश्चात पूरे प्रदेश में अतिथि शिक्षक संगठन धरना आंदोलन करने पर मजबूर हो जायेंगे।

इन्ही सभी बिंदुओं को लेकर ज्ञापन के माध्यम से अतिथि शिक्षकों की समस्याओं के निराकरण करने की मांग की गई है इस अवसर पर संघ के जिला  अध्यक्ष संतोष कहार , जिला मीडिया प्रभारी योगेश चौरसिया ,, कैलाश विश्वकर्मा , रमाकांत पवार ,नारायण राऊत,अबध सूर्यवंशी, सुनील विश्वकर्मा , राजू वेलवंशी , मुकेश साहू, जैश अंसारी, रागिनी कश्यप ,कीर्ति सोनी , रंजीता नागवंशी , नीता सूर्यवंशी ,सहित अनेक अतिथि शिक्षक साथी मौजूद रहे।