Advertisement

ATITHI SHIKSHAK का मानदेय डाटा पुन: फीड हो या Treasury से लिंक किया जाए | KHULA KHAT by Kailash Vishwakarma



खुलाखत खुला खत
मध्यप्रदेश में अतिथि शिक्षकों के अनुभव प्रमाण पत्र की प्रक्रिया पोर्टल पर प्रारंभ है वर्तमान में अतिथि शिक्षकों की उपस्थिति सत्यापन पत्रक जनरेट होना प्रारंभ हो गए हैं उपस्थित सत्यापन पत्रक में बहुत सी गलतियां हो रही है। इसका समाधान आवश्‍यक है अन्‍यथा मेहनती अनुभवी अतिथि शिक्षक प्रमाण पत्र से वंचित हो जायेगे। 

1  अतिथि शिक्षक का सत्र गलत आ रहा है उसे सही किया जाए।2017-18 से अप्रैल का सत्र प्रारंभ हुआ है इसके पूर्व 15 जून से सत्र प्रारंभ हाता था।
2  सन 2014 के पूर्व में कार्यरत अतिथि शिक्षकों के मानदेय का विवरण पोर्टल पर उपलब्ध नहीं है जिसके कारण डाटा नाट फाउंड आ रहा ।
3 संकुल द्वारा अतिथि शिक्षक मानदेय भुगतान कार्यरत स्कूल के नाम से ना किया   जाकर मनमाने ढंग से किसी भी  स्कूल के नाम से भुगतान किया गया है, जिसके कारण मानदेय पोर्टल पर एक सत्र में दो तीन स्‍कूल में कार्यरत मानदेय दिखा रहा है और लॉक नहीं हो रहा है। 
4  पोर्टल पर अतिथि शिक्षक का नाम पिता का नाम  जन्मतिथि अतिथि शिक्षक का पता भी गलत फीड किया गया  है।
5  अतिथि शिक्षक की फोटो उपस्थिति पत्रक पर नहीं आ रही है।

संकुल में बात करने पर जबावदार लोगों का जबाब हाेता है कि पेार्टर पर हम सुधार नहीं कर सकते भोपाल से ही सुधार होगा जबकि पूरी गलती संकुल से की गई मनमाने ढंग से वेतन आहरण किया गया घोर वित्‍तीय अनियमितता है पर इस समस्या की ओर किसी का ध्‍यान नहीं जाता किन्‍तु आज जब अति‍थि शिक्षक उपस्थिति पत्रक आनलाइन बनने लगे तब सभी को पता चला कि संकुल में कितना काला पीला हुआ है। 

अतिथि शिक्षक के वेतन का सही मिलान करना है तो आधार से बैक अकाउंट लिंक है और सभी का मानदेय डीडीओ से Treasury bill से मिला है यदि  Treasury से लिंक कर दिया जाये तो सभी वर्षो का मानदेय आनलाइन मिल जायेगा या संकुल से सभी अतिथि शिक्षकों का मानदेय का डाटा पुन फिड कराया जाये जिससे अनुभवी अतिथि शिक्षक का सही अनुभव का प्रमाण पत्र बन सके। (कैलाश विश्‍वकर्मा, छिन्‍दवाडा)
यदि आपके पास भी हैं विचार जो ला सकते हैं व्यवस्थाओं में सुधार तो कृपया जरूर लिखें। हमारा ईपता है editorbhopalsamachar@gmail.com