शाम को बेटे की बारात में जाना था डायल-100 ने कोमा में पहुंचा दिया | INDORE NEWS

Advertisement

शाम को बेटे की बारात में जाना था डायल-100 ने कोमा में पहुंचा दिया | INDORE NEWS

इंदौर। शाम को बेटे की बारात निकलना थी, इससे पहले ही मंगलवा सुबह पिता के साथ मालवीय नगर चौराहे पर दर्दनाक हादसा हो गया। बेटे विवेक (Vivek Khatik) की शादी के लिए पूजन सामाग्री ला रहे 55 वर्षीय रामदयाल खटीक (Ramdayal Khatik) और उनके 25 वर्षीय भतीजे चंदन (Chandan Khatik) को डायल-100 ने जोरदार टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही बाइक 15 फीट दूर तक घसीटती चली गई, दोनों उछलकर गिर पड़े। सिर में गंभीर चोट लगने से रामदयाल कोमा में हैं। डायल-100 का ड्रायवर व उसमें सवार जवान घायलों को सड़क पर ही तड़पता छोड़ निकल गए। मंगलवार शाम को गमगीन माहौल में विवेक की बारात निकली।  

विजय नगर पुलिस ने डायल-100 के ड्रायवर पर लापरवाही से गाड़ी चलाने और टक्कर मारने का केस दर्ज किया है। बेटे विवेक की बारात की तैयारी में जुटे मालवीय नगर निवासी रामदयाल खटीक पूजन सामग्री लेकर 25 साल के भतीजे चंदन की बाइक से एमआर-9 रोड होते हुए मालवीय नगर की ओर जा रहे थे। चौराहे पर ग्रीन सिग्नल होते ही चंदन ने बाइक आगे बढ़ाई तभी बीआरटीएस लेन में एलआईजी की ओर जा रही तेज रफ्तार डायल-100 ने उन्हें टक्कर मार दी। घटना के बाद विजय नगर निवासी अंकित त्रिवेदी ने अपनी कार से डायल-100 का पीछा किया।

अंकित ने बताया कि मैंने उन्हें घायल वृद्ध को अस्पताल पहुंचाने के लिए कहा, लेकिन उसने अनसुना कर दिया। घायल चंदन ने बताया कि ग्रीन सिग्नल पर मैंने बाइक आगे बढ़ाई तो डायल-100 ने बाइक के अगले पहिए को टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही अंकल सड़क पर सिर के बल गिरे और उन्हें खून बहने लगा। मैंने लोगों से मदद की गुहार लगाई तो कुछ राहगीरों ने अपनी गाड़ी से तत्काल हमें लाइफलाइन हॉस्पिटल में भर्ती करवा दिया। रामदयाल के रिश्तेदार, और बेटी-दामाद भी अस्पताल आ गए। रामदयाल अब भी होश में नहीं आ पाए हैं।