Loading...

SMARTPHONE BATTERY GUIDELINE | स्मार्टफोन बैटरी के लिए आवश्यक दिशानिर्देश

आप में से अधिकतर लोग स्मार्टफोन (SMARTPHONE) इस्तेमाल करते होंगे। इनमें से कई लोगों के पास तो नया फोन होगा, कई लोगों के पास पुराना होगा। ऐसे में व कई लोग स्मार्टफोन की बैटरी लाइफ (BATTERY LIFE) से परेशान होंगे। कुछ लोगों की शिकायत होगी कि चार्जिंग के दौरान उनका फोन गर्म हो जाता है और कईयों की शिकायत होगी कि फोन की बैटरी बहुत जल्द खत्म हो जाती है। तो आइए आज उन 10 गलतियों के बारे में जानते हैं जो आपको अपने फोन की बैटरी के साथ नहीं करनी चाहिए।

ऑटो ब्राइटनेस मोड बैटरी खाता है / Auto brightness mode battery eats

सभी फोन में ऑटो ब्राइटनेस का विकल्प मिलता है लेकिन आपके लिए बेहतर होगा कि आप इसका इस्तेमाल ना करें। आप अपनी जरूरत के हिसाब से ब्राइटनेस के लेवल को सेट करें, क्योंकि ऑटो ब्राइटनेस मोड में फोन रौशनी के हिसाब से ब्राइटनेस तय करता है ऐसे में बैटरी ज्यादा खपत होती है।

बैटरी 20% से 90% तक चार्ज रखें / Keep the battery charged from 20% to 90%

फोन को कभी पूरा चार्ज या डिस्चार्ज न करें। आजकल मोबाइल फोन में जो बैटरी लगकर आ रही है उन्हें पूरा चार्ज रखने या डिस्चार्ज कर देने की जरूरत नहीं होती। फोन में कम वोल्टेज होता है इसलिए बेहतर है अगर बैटरी 20% से 90% तक रहे।

ब्राउजर में कई सारे टैब्स बैटरी को नुक्सान पहुंचाते हैं / Many tabs in the browser damage the battery

हम में से अधिकतर लोग फोन के ब्राउजर में कई सारे टैब्स खोलकर छोड़ देते हैं और उन्हें बंद करना भूल जाते हैं। ऐसे में  बैकग्राउंड में टैब्स के खुले रहने के कारण बैटरी खपत होती है। बैटरी की लाइफ चाहते हैं तो इस्तेमाल होने के बाद इन टैब को बंद कर दें।

जीपीएस, वाई-फाई और ब्लूटूथ बैटती की खपत बढ़ाते हैं / Increases the consumption of GPS, Wi-Fi and Bluetooth batteries 

जब जरूरत न हो तो जीपीएस, वाई-फाई और ब्लूटूथ बंद रखें क्योंकि ऐसा करने से आप बहुत बैटरी बचा सकते हैं। साथ ही फोन भी बेहतर काम करेगा क्योंकि इन ऐप्लीकेशन को चलाने में फोन को बहुत जोर लगाना पड़ता है। वाई-फाई ऑन रहने पर फोन आसपास नेटवर्क सर्च करता है जिसमें बैटरी की खपत होती है।

वाइब्रेट मोड बैटती के लिए नुक्सानदायक है / Vibrate mode is harmful to the battery

फोन को वाइब्रेट मोड से हटा देंगे तो बैटरी बचेगी। यह बैटरी के साथ साथ सेहत के लिए भी खतरनाक है। इसके अलावा फोन के बटन दबाने पर जो वाइब्रेशन होता है उसे भी बंद कर दें क्योंकि असल में उसका कोई उपयोग नहीं होता लेकिन बैटरी खपती है।

स्क्रीनटाइम आउट की मदद से बैटरी बचाएं / Save battery with the help of a screentime out

स्क्रीनटाइम आउट को कम रखें। मतलब फोन इस्तेमाल करने के बाद जब काम खत्म हो जाता है तो फोन एक निश्चित समय के बाद स्क्रीन को बंद कर देता है। उसे अगर '15 सेकेंड' पर सेट कर देंगे तो बैटरी सबसे ज्यादा बचेगी। ज्यादा देर तक स्क्रीन चालू रहने और इस्तेमाल न होने से बेकार में बैटरी खर्च होती है।

ऑटो सिंक ऑन करने से बैटती खर्च होती है / Turning on auto sync will cost the battery

अगर आप ऑटो सिंक ऑन कर के रखते हैं तो ऐसा न करें। इसे तभी इस्तेमाल करें अगर आपको फोन में ईमेल फोल्डर हर वक्त अपडेट करने की जरूरत पड़ती है। वरना इसे ऑफ रखें और जब आपको जरूरत हो तो खुद सिंक कर लें। 

कमजोर सिगनल बैटरी के लिए नुक्सानदायक / Harmful to weak signal battery

कॉल तब ही करें जब सिगनल अच्छे आ रहे हों। कमजोर सिगनल में फोन सिग्नल ढूंढने के लिए ज्यादा बैटरी चूसता है और जब कॉल करने या डाटा पैक इस्तेमाल करने की बिलकुल जरूरत नहीं हो तो फोन को एयरप्लेन मोड पर लगा दें।

बैटरी की भी उम्र होती है / There is also the age of the battery

फोन को चार्जिंग होते वक्त इस्तेमाल न करें। यही वजह है कि ज्यादातर कंपनियां भी चार्जर का तार छोटा रखने लगी हैं। चार्जिंग के समय फोन इस्तेमाल करने से फोन की बैटरी लाइफ कम हो जाती है। एक बैटरी का चार्ज होने का निश्चित चक्र होता है यानि वह निश्चित समय तक के लिए ही चार्ज होगी और चक्र के पूरा हो जाने पर बैटरी बदलना ही बेहतर होता है। बैटरी या चार्जर खराब हो जाने पर उसी कंपनी का चार्जर/बैटरी खरीदें जिसका फोन है। नकली, लोकल या किसी और कंपनी का खरीदने से बैटरी की लाइफ कम हो जाती है।