Loading...

नपाध्यक्ष के बेटे के यहां हथियारों का जखीरा मिला, नंदकुमार सिंह ने ज्वाइन कराया था | MP NEWS

भोपाल। संजय यादव, लोग जिसे सेंधवा का डॉन कहते हैं, जिसे तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने जिन्हे धूमधाम के साथ पार्टी ज्वाइन कराई थी, के यहां पुलिस ने छापामार कार्रवाई की है। पुलिस का दावा है कि उसे संजय यादव के यहां से हथियारों का जखीरा मिला है। बता दें कि संजय यादव की मां सेंधवा नगरपालिका की अध्यक्ष हैं। शहर में इनकी दहशत इस कदर थी कि कांग्रेस यहां से अपना प्रत्याशी तक नहीं उतार पाई थी। 

बड़वानी एसपी यांग चेंग डोलकर भूटिया ने बताया कि छापे के दौरान संजय यादव के घर से 10 पिस्टल, 111 कारतूस और 17 देशी हथगोले बरामद किए गए हैं। हथ गोले की जांच के लिए इंदौर से बम डिस्पोजल टीम बुलाकर निरीक्षण कराया गया। एसपी ने बताया कि संजय यादव थाने का निगरानी बदमाश है इसके विरुद्ध 47 अपराध दर्ज हैं। इसमें हत्या, हत्या के प्रयास और अवैध हथियार रखने जैसे संगीन अपराध हैं। बता दें कि संजय यादव की मां सेंधवा नगरपालिका अध्यक्ष हैं। संजय और जीतू यादव ने 19 फरवरी 2017 को तत्कालीन भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान की मौजूदगी में भाजपा ज्वाइन की थी। यह ज्वाइनिंग भी तब​ हुई थी जब पुलिस रिकॉर्ड में संजय यादव फरार था

संजय यादव फिर फरार बताया गया

एसपी ने बताया कि आरोपी के घऱ से बरामद कुछ पिस्टल फैक्ट्री मेड नजर आ रही हैं। इसकी तस्दीक करने के लिए विशेषज्ञों से जांच कराई जाएगी। हालांकि जिस बदमाश संजय यादव के घर से हथियारों का ये जखीरा बरामद हुआ है। वो अभी फरार चल रहा है। पुलिस ने उसे पकड़ने के लिए कई टीमें बना दी हैं। जिन बदमाशों संजय यादव, जीतू यादव और गोपाल जोशी के यहां से पुलिस को हथियार मिले हैं। उनके खिलाफ जिला बदर और राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्यवाही प्रस्तावित।

कांग्रेस कब डर गई थी

सेंधवा नगरपालिका चुनाव के समय जब भाजपा ने डॉन संजय यादव की मां को प्रत्याशी घोषित किया तो कांग्रेस की तरफ से एक अदद बयान तक नहीं आया। उल्टा कांग्रेस के उम्मीदवारों ने पर्चा वापस ले लिया। प्रदेश कांग्रेस भी चुप रही। यहां तक कि चुनाव आयोग से एक अदद शिकायत तक नहीं की। तत्कालीन जिलाध्यक्ष सुखलाल परमार ने बताया कि हमने 2 नेताओं को टिकट दिया लेकिन दोनों ने अपना नाम वापस ले लिया।