CM KAMAL NATH के भांजे VVIP घोटाला में उलझे, ईडी अब RG कनेक्शन तलाश रही है | NATIONAL NEWS

Advertisement

CM KAMAL NATH के भांजे VVIP घोटाला में उलझे, ईडी अब RG कनेक्शन तलाश रही है | NATIONAL NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की की बहन नीता पुरी और बहनोई दीपक पुरी का कारोबारी बेटा रतुल पुरी अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के शिकंजे में फंसते नजर आ रहे हैं। दिल्ली के खबर आ रही है कि ईडी के पास रतुल पुरी की संलिप्तता के पुख्ता प्रमाण है, वो तो इस घोटाले में RG कनेक्शन तलाश रही है। RG का पता चलते ही सबकुछ सामने जाएगा। इधर कमलनाथ ने बयान दिया है कि उनका रतुल पुरी से कोई वास्ता नहीं है। 

RG को 50 करोड़ रुपए दिए गए हैं

दिल्ली के प्रख्यात पत्रकार नीलू रंजन की रिपोर्ट के अनुसार ईडी के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हेलीकॉप्टर घोटाले में सरकारी गवाह बन चुके राजीव सक्सेना ने जांच अधिकारियों को एक डायरी दी है। यह डायरी दुबई में सक्सेना के पास रहती थी, लेकिन इसमें पैसे के लेन-देन का हिसाब सुशेन मोहन गुप्ता रखता था। सुशेन दिल्ली से राजीव सक्सेना को बताता था कि किस आदमी के आगे कितनी रकम लिखनी है। इस डायरी में कई राजनेताओं और नौकरशाहों के नाम और उनके आगे दी गई रकम लिखी गई है। इनमें एक नाम 'आरजी' के आगे 50 करोड़ रुपये की रकम लिखी गई है।

रजत गुप्ता ने कहा मैं वो RG नहीं जिसे 50 करोड़ मिले

ईडी ने जब सुशेन मोहन गुप्ता से इस बारे में पूछा तो उसने बताया कि 'आरजी' दिल्ली के एक ज्वैलर 'रजत गुप्ता' का संक्षिप्त नाम है। इसके बाद ईडी ने रजत गुप्ता को बुलाकर पूछताछ की। लेकिन रजत गुप्ता ने साफ कहा कि सुशेन मोहन गुप्ता और उसके 50 करोड़ रुपये से उसका कोई लेना-देना नहीं है। बुधवार को ईडी ने दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट स्थित विशेष अदालत को बताया कि सुशेन मोहन गुप्ता से 'आरजी' की असली पहचान निकालने की कोशिश की जा रही है। इसके लिए उसे कई लोगों के साथ बिठाकर आमने-सामने पूछताछ की जरूरत है। लिहाजा अदालत ने सुशेन मोहन गुप्ता को चार और दिन के लिए ईडी की हिरासत में भेज दिया।

रतुल पुरी के खिलाफ पुख्ता सबूत की चर्चा

वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, गुरुवार को सुशेन मोहन गुप्ता के साथ रितुल पुरी से पूछताछ की गई। रितुल पुरी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की बहन नीता पुरी और दीपक पुरी का बेटा है। उन्होंने फिलहाल विस्तार से कुछ भी बताने से मना कर दिया लेकिन उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार, हेलीकॉप्टर घोटाले में दी गई दलाली की रकम पुरी परिवार की कंपनियों तक पहुंचने के पुख्ता सुबूत मिल रहे हैं।

क्या रतुल पुरी के खातों का RG से कनेक्शन है

बताते हैं कि राजीव सक्सेना ने ईडी को स्विट्जरलैंड में कई खातों की जानकारी दी है जिनमें सुशेन मोहन गुप्ता के कहने पर पैसे जमा कराए गए थे, इनमें कुछ खाते रितुल पुरी से संबंधित है। सुशेन मोहन गुप्ता और रितुल पुरी से इन्हीं खातों के बारे में पूछताछ की जा रही है। मालूम हो कि अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआइपी हेलीकाप्टर घोटाले के मुख्य आरोपित क्रिश्चियन मिशेल को पिछले साल दिसंबर में दुबई से प्रत्यर्पण कराकर भारत लाया गया था।

मेरा उनके बिजनेस से कोई संबंध नहीं: कमलनाथ

इस बारे में सफाई देते हुए कमलनाथ ने कहा कि उनका (रतुल पुरी का) राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है। कमलनाथ ने यह भी कहा कि जो भी मामला हो, उसकी जांच होनी चाहिए लेकिन ऐसे मुद्दे चुनाव के समय ही क्यों आ रहे हैं। मामले को खुद से जोड़े जाने पर कमलनाथ ने स्पष्टीकरण देते हुए कहा, 'वह स्वतंत्र हैं, उनका राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है और मेरा उनके बिजनस से कोई संबंध नहीं है। यह जो कुछ भी है, इसकी जांच होनी चाहिए लेकिन ऐसे मुद्दे चुनाव के समय पर ही क्यों सामने आते हैं?' 

गांधी परिवार के काफी करीबी हैं कमलनाथ

बता दें कि सीएम कमलनाथ गांधी परिवार के सबसे करीबी नेताओं में शामिल हैं। कांग्रेस में ज्यादातर लोग ऐसे हैं जो पहले नेता हुए फिर गांधी परिवार के करीब आए परंतु कमलनाथ अकेले ऐसे व्यक्ति हैं जो पहले गांधी परिवार के करीब आए और फिर नेता बने। इंदिरा गांधी ने एक सभा में कमलनाथ को अपना तीसरा बेटा कहा था। कमलनाथ द्वारा गांधी परिवार को फायदा पहुंचाने और संकट से बचाने के कई किस्से सुनाए जाते हैं।