3 करोड़ छोटे व्यापारियों के लिए पीएम नरेंद्र मोदी के वादे | BUSINESS NEWS

Advertisement

3 करोड़ छोटे व्यापारियों के लिए पीएम नरेंद्र मोदी के वादे | BUSINESS NEWS

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM NARENDRA MODI) ने आज छोटे व्यापारियों एवं स्टार्टअप (SMALL SCALE BUSINESSMEN AND STARTUP) के लिए कुछ महत्वपूर्ण वादे किए हैं। देश भर में करीब 3 करोड़ छोटे कारोबारी (SMALL TRADERS) है। इन्हीं को फोकस करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने आज अपना विजन सबके सामने रखा। श्री मोदी दिल्ली में राष्ट्रीय व्यापारी सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। 

पीएम नरेंद्र मोदी ने क्या वादे किए | PM Narendra Modi's election promises

जीएसटी के तहत रजिस्टर्ड व्यापारियों के लिए किसानों की तरह व्यापारी क्रेडिट कार्ड योजना शुरू की जाएगी। 
व्यापारियों का 10 लाख रुपए का दुर्घटना बीमा कराया जाएगा। 
सरकार व्यापारी कल्याण बोर्ड भी बनाएगी। 
स्टार्टअप सेक्टर के लिए बिना कोलैट्रल सिक्युरिटी के 50 लाख रुपए का कर्ज देने की योजना भी लाएगी।'' 
छोटे कारोबारियों को पेंशन दी जाएगी। 
राष्ट्रीय व्यापार आयोग बनाया जाएगा। 

व्यापारियों ने हमेशा देश के लिए सोचा: मोदी

मोदी ने व्यापारी सम्मेलन में कहा कि व्यापारियों ने हमेशा देश के बारे में सोचा। देश के व्यापारियों की वजह से ही भारत को कभी सोने की चिड़िया कहा जाता था। मोदी ने कहा- आजादी के बाद से कांग्रेस के शासन में व्यापारियों को लेकर धारणा बना दी गई थी कि देश में जो भी गड़बड़ हो रही है, वह सिर्फ व्यापारियों की वजह से हो रही है।

दोहरी मार झेलते हैं व्यापारी: प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री ने कहा- सच्चाई यह है कि मेरे देश का सामान्य व्यापारी तो महंगाई की दोगुनी मार झेलता है। एक तो वह खुद अपने घर का बजट बनाता है तो दिक्कत होती है। दूसरा महंगाई की वजह से लोगों के सारे पैसे आवश्यकता की पूर्ति में खर्च हो जाते थे तो दुकानदारों के व्यापार में कमी होती थी। उसका असर व्यापारी समाज पर पड़ता है। महंगाई कंट्रोल होती है तो जेब में पैसे होते हैं, तब बाजार में लगते हैं और व्यापार तेजी से बढ़ता है। 

मोदी ने कहा- वादा किया था कि हर दिन एक कानून खत्म करूंगा

मोदी ने कहा- पहले देश में कारोबारियों को जंगल के कानूनों और कानूनों के जंगल.. दोनों से जूझना पड़ता था। 2014 में जब आपने बुलाया था, तब मैं प्रधानमंत्री नहीं था। तब लोग डरते थे मेरी सभा में आने से कि उनपर इनकम टैक्स की रेड पड़ जाएगी। पहली बार इसी मंच पर एक बात कही थी कि देश में ऐसी सरकार है, जो नए-नए कानून बनाने का काम करती है। मैंने कहा था कि मैं आऊंगा तो हर दिन एक कानून खत्म करूंगा।

'जीएसटी से व्यापार में पारदर्शिता आई'

प्रधानमंत्री ने कहा, "जीएसटी के बाद व्यापार में पारदर्शिता आई और कच्चे-पक्के के चक्कर से आप मुक्त हो गए हैं। जीएसटी से राज्यों का राजस्व डेढ़ गुना तक बढ़ गया है। जीएसटी की व्यवस्था आपके सुझावों पर चल रही है। अगले बजट तक इंतजार नहीं करना होता।''
''यह नहीं कह सकता हूं कि सरकार से गलतियां नहीं होतीं। इतना बड़ा देश है कि एक इलाके के लिए जो सही हो, वह दूसरे इलाके के लिए भी सही हो। आपकी सलाह इसलिए भी जरूरी है, क्योंकि व्यापारी देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी है। हम आपको जितना प्रोत्साहन दे सकें, वह कम है।''