Loading...

मप्र के 20 से ज्यादा जिलों में आंधी बारिश का आतंक | MP WEATHER REPORT

भोपाल। मौसम अब दुश्मन बनकर सामने आ गया है। रविवार रात से मौसम का बदलना शुरू हुआ। मंगलवार दोपहर तक लगभग पूरे मध्यप्रदेश में मौसम बदल चुका था। मध्यप्रदेश के 20 से ज्यादा जिलों में आंधी और बारिश ने जन जीवन को प्रभावित कर दिया है। कई इलाकों में बिजली गुल हो गई है। 

किसान परेशान

बादल और हवा के चलते दिन के तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई। 42 और 43 डिग्री तक पहुंच चुका पारा 2 से 3 डिग्री तक लुढ़क कर 38 से 39 डिग्री के बीच आ गया। इधर अचानक बदले इस मौसम ने किसानों को चिंता में डाल दिया है। प्रदेश में अभी करीब 50 फीसदी गेहूं की फसल खेतों में खड़ी है, जिसका दाना पानी पड़ने से खराब हो जाएगा। इसके अलावा खरीदी केंद्रों पर खुले में रखा लाखों क्विंटल अनाज के भी भीगने की आशंका खड़ी हो गई है। विदिशा समेत कुछ जिलों में तो करीब आधा घंटे तक तेज बारिश हुई है।

इसलिए अचानक बदला मौसम

वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक एसके डे ने बताया कि दक्षिण पश्चिम राजस्थान में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। यह पिछले दो दिन से सक्रिय है। जिसका असर मध्यप्रदेश पर पड़ रहा है।वहीं, आसमान में पूर्वी उत्तर प्रदेश से महाराष्ट्र तक बनी नमी रहित ट्रफ लाइन के चलते मौसम एकदम बदल गया है। इसका असर मंगलवार और बुधवार को भी रहेगा। तेज हवाओं के साथ हल्की बारिश होने का अनुमान भी मौसम केंद्र ने लगाया है। उधर, मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार इस बार अच्छा मानसून रहने की संभावना है। जून से सितंबर के बीच औसत बारिश 96 प्रतिशत रहने की संभावना जताई गई है।

प्रदेश में यहांं गिरे ओलेे

प्रदेश के कई जिलों में धूप इतनी तेज हो गई है कि तापमान 41 से 45 डिग्री तक पहुंच गया है, वहीं कुछ जिले ऐसे भी हैं, जहां आंधी के साथ बारिश और ओले भी गिरे। प्रदेश में बीते 24 घंटे के दौरान इंदौर, उज्जैन एवं चंबल संभागों के जिलों में कहीं-कहीं बारिश हुई। इसके साथ ही ग्वालियर, भोपाल एवं होशगाबाद संभागों के जिलों में धूल भरी आंधी चली। सागर दमोह, नरसिंहपुर, जबलपुर, छिंदवाड़ा, सिवनी एवं बालाघाट जिले में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ी। धार जिले के नालछा में एक सेमी बारिश दर्ज की गई।

यहां लू का प्रभाव, रातें गर्म

प्रदेश के होशंगाबाद, छिंदवाड़ा, शाजापुर, खरगौन एवं गुना जिलों में लू का प्रभाव रहा। इंदौर, भोपाल राजगढ़, शाजापुर, उज्जैन, होशंगाबाद और टीकमगढ़ जिलों में राते गर्म रहीं। जबलपुर एवं इंदौर संभागों के जिलों में सामान्य से अधिक तथा शेष संभागों के जिलों में सामान्य से काफी अधिक रहे। प्रदेश में सर्वाधिक तापमान 45 डिग्री सेल्सियस खरगोन में दर्ज किया गया।
16-17 अप्रैल के लिए मौसम की चेतावनी, 8 राज्य प्रभावित होंगे