मप्र के 1200 कॉलेजों में पेपरलेस वेरिफिकेशन होगा | MP EDUCATION NEWS

Advertisement

मप्र के 1200 कॉलेजों में पेपरलेस वेरिफिकेशन होगा | MP EDUCATION NEWS

भोपाल। उच्च शिक्षा विभाग COLLEGE एडमिशन देने के लिए अपनी व्यवस्था को काफी सुगम बनाने के लिए पेपरलेस वेरिफिकेशन करने का निर्णय लिया है। आगामी सत्र से यह व्यवस्था लागू हो जाएगी। आयुक्त राघवेंद्र सिंह ने बीएड में 28 जून तक दाखिले खत्म करने की व्यवस्था से सभी विवि के रजिस्ट्रार को कहा है। उच्च शिक्षा विभाग अपने निजी और सरकारी (GOVERNMENT AND PRIVET COLLEGE) करीब 1250 कालेजों में प्रवेश कराने के लिए NIC को छोड़कर MP ONLINE के माध्यम से दाखिले कराएगा। 

आयुक्त राघवेंद्र सिंह द्वारा आयोजित कराई गई बुधवार को वीडियो कांफ्रेंस से प्रदेश के सभी विवि के रजिस्ट्रार और कालेजों को निर्देशित किया है। इस दौरान आयुक्त ने बताया कि एमपीबोर्ड से 12वीं पास करने वाले विद्यार्थियों का सत्यापन आनलाइन किया जाएगा। इससे 75 फीसदी प्रवेश की प्रक्रिया आसान हो जाएगी। क्योंकि इस बार एमपी आनलाइन को प्रवेश कराने का दायित्व दिया गया है। इसलिए वे एमपी आनलाइन 12वीं पास करने वाले सभी विद्यार्थियों का डाटा ले लेगा। इससे एमपीबोर्ड से पास होने वाले विद्यार्थियों को दाखिला लेने के लिए सत्यापन कराने के लिए कालेजों तक पहुंचकर अपने दस्तावेजों और उनकी फोटो कापी दिखाकर सत्यापन कराने की जरूरत नहीं होगी। सिर्फ सीबीएसई और प्रदेश के बाहर के बोर्ड केविद्यार्थियों को अपने मूल दस्तावेजों से सत्यापन कराना होगा। वहीं सरकारी सुविधाओं का फायदा लेने वाले विद्यार्थियों को अपने मूल दस्तावेज जरूर कालेज में प्रस्तुत करना होंगे।

कालेजों में संचालित होंगे कियोस्क
आयुक्त सिंह ने कांफ्रेंस में कालेज प्राचार्यों को बताया कि उनके कालेज में एमपीआनलाइन के कियोस्क को संचालित किया जाए, ताकि विद्यार्थी प्रवेश लेने के लिए यहां वहां भटकते नहीं रहें। कालेज में विद्यार्थियों की मदद करने के लिए हेल्प डेक्स का संचालित व्यवस्थित रूप से कराएं। आयुक्त सिंह ने बताया कि प्रदेश के 111 कालेजों की आईआईक्यूए रिपोर्ट जमा हो चुकी है। इसके बाद 97 कालेजों द्वारा एसएसआर रिपोर्ट भी जमा हो चुकी है। इससे उनका नैक अग्रेडेशन आसानी से मिल जाएगा।