Loading...

RG स्टेडियम में गरजे धौनी और जाधव के बल्ले, कंगारुओं की बॉल को धूल चटाई | IND-AUS REPORT

भोपाल। हैदराबाद के राजीव गांधी स्टेडियम में आज महेन्द्र सिंह धौनी और केदार जाधव का बल्ला जमकर गरजा। ऑस्ट्रेलिया की ज्यादातर बॉल बाउंड्री की परिक्रमा लगाती नजर आई और इसी के साथ इंडिया ने पांच वनडे की सीरीज का पहले मैच 6 विकेट से जीत लिया है। 

हैदराबाद में खेले गए इस मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 237 रन का लक्ष्य दिया। टीम इंडिया ने इसे 48.4 ओवर में 4 विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे में भारत की यह लगातार तीसरी जीत है। इससे पहले टीम इंडिया एडिलेड और मेलबर्न में हराया था। इस जीत में महेंद्र सिंह धोनी और केदार जाधव ने अहम योगदान दिया। धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगातार चौथा अर्धशतक लगाया। उन्होंने इस साल जनवरी में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर तीन अर्धशतक लगाए थे। धोनी 72 गेंद पर 59 रन और केदार 87 गेंद पर 81 रन बनाकर नाबाद रहे। केदार को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

इंडिया के विकेट कब-कब गिरे
पहला विकेट (1.1 ओवर): भारत को पहला झटका दूसरे ओवर में लगा। नाथन कूल्टर नाइल  ने अपने स्पेल की पहली ही गेंद पर शिखर धवन को पवेलियन भेज दिया। धवन खाता भी नहीं खोल सके। उनका कैच मैक्सवेल ने लिया।
दूसरा विकेट (16.6 ओवर): एडम जम्पा ने 17वें ओवर की आखिरी गेंद पर भारत को दूसरा झटका दिया। उन्होंने भारतीय कप्तान विराट कोहली को 44 रन के निजी स्कोर पर एलबीजडब्ल्यू कर दिया। जम्पा पिछले तीन मैच में कोहली को दोे बार आउट कर चुके हैं।
तीसरा विकेट (20.5 ओवर): ओपनर रोहित शर्मा 21वें ओवर में आउट हो गए। उन्होंने 66 गेंद पर 37 रन की साझेदारी की। रोहित को कूल्टर नाइल ने कप्तान एरॉन फिंच के हाथों कैच आउट कराया।
चौथा विकेट (23.3 ओवर): रोहित के बाद अंबाती रायडू भी जल्द ही आउट हो गए। जम्पा ने रायडू को एलेक्स कैरी के हाथों कैच आउट कराया। रायडू ने 19 गेंद पर 13 रन बनाए।

ऑस्ट्रेलिया के विकेट कब-कब गिरे
पहला विकेट (1.3 ओवर) : जसप्रीत बुमराह की इस गेंद को एरॉन फिंच ने आगे आकर पुश करने की कोशिश की, लेकिन गेंद उनके बल्ले का बाहरी किनारा लेते हुई विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के हाथों में पहुंच गई। इस स्कोर ऑस्ट्रेलिया का खाता भी नहीं खुला था।
दूसरा विकेट (20.1 ओवर) : केदार जाधव की यह गेंद काफी ऊंची थी। मार्क्स स्टोइनिस ने इसे फुल टॉस की तरह खेलना चाहा, लेकिन शॉर्ट मिडविकेट पर खड़े विराट कोहली ने उनका कैच पकड़ लिया। स्टोइनिस ने आउट होने से पहले उस्माना ख्वाजा के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 87 रन जोड़े।
तीसरा विकेट (23.5 ओवर) : कुलदीप यादव की इस गेंद पर उस्मान ख्वाजा ने छक्का लगाने की कोशिश की। हालांकि, गेंद पूरी तरह से उनके बल्ले पर आई नहीं और विजय शंकर ने अपनी दाईं ओर दौड़ लगाते हुए मिडविकेट पर शानदार कैच पकड़ा। इस समय टीम का स्कोर 97/3 था।
चौथा विकेट (29.6 ओवर) : पीटर हैंड्सकॉम्ब ने कुलदीप यादव की इस गेंद को हल्का सा आगे निकलकर खेलने की कोशिश की। हालांकि, गेंद इतनी घूमी कि उनके बल्ले पर नहीं आई और विकेट के पीछे खड़े महेंद्र सिंह धोनी ने चपलता दिखाते हुए उन्हें स्टम्प कर दिया। इस समय टीम का स्कोर 133/4 था।
पांचवां विकेट (37.5 ओवर) : मोहम्मद शमी ने 38वें ओवर की पांचवीं गेंद पर एश्टन टर्नर को बोल्ड कर दिया। टर्नर का यह पहला वनडे है। उन्होंने 23 गेंद पर 21 रन की पारी खेली। टर्नर ने मैक्सवेल के साथ पांचवें विकेट के लिए 36 रन की साझेदारी की।
छठा विकेट (39.5 ओवर) : टर्नर के आउट होने के दो ओवर बाद ही मैक्सवेल भी पवेलियन लौट गए। उन्हें भी शमी ने बोल्ड कर दिया। मैक्सवेल ने 51 गेंद में 40 रन की पारी खेली। उन्होंने इस दौरान पांच चौके लगाए।
सातवां विकेट (49.5 ओवर): पारी की आखिरी ओवर के पांचवीं गेंद पर कूल्टर नाइल आउट हो गए। बुमराह की गेंद पर कोहली ने उनका कैच लिया। कूल्टर नाइल ने 27 गेंद पर 28 रन की पारी खेली। उन्होंने एलेक्स कैरी के साथ सातवें विकेट के लिए 62 रन की साझेदारी की।

इंडिया की टीम के खिलाड़ी
विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, रोहित शर्मा, अंबाती रायडू, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), केदार जाधव, विजय शंकर, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, कुलदीप यादव, रविंद्र जडेजा। 

ऑस्ट्रेलिया की टीम के खिलाड़ी
एरॉन फिंच (कप्तान), मार्क्स स्टोइनिस, उस्मान ख्वाजा, एलेक्स कैरी, पीटर हैंड्सकॉम्ब, ग्लेन मैक्सवेल, एश्टन टर्नर, एडम जम्पा, जेसन बेहरेनडॉर्फ, पैट कमिंस, नाथन कूल्टर-नाइल।